वसीम रिज़वी के परिवार ने छोड़ा साथ,रिज़वी का साथ देने वाले सुरक्षाकर्मियों ने

360°

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। कुरान से 26 आयतों को हटाए जाने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर करने वाले रिजवी के विरोध के सुर तेज हो गए हैं। उलेमाओं, संगठनों, समाज के विरोध के बाद तन्हाई में जिंदगी गुजर बसर कर रहे रिजवी के परिवार ने भी अब उनका साथ छोड़ दिया है।वसीम रिजवी वाई कैटिगरी की सिक्यॉरिटी में हैं।

समाज, परिवार सभी के साथ छोड़ देने के बाद उन्हें केवल कुछ पुलिसकर्मियों का ही सहारा है। इस बीच रिजवी ने एक वीडियो भी जारी किया, जिसमें उन्होंने अपनी पत्नी, बच्चों, भाई और रिश्तेदारों पर खुद को ‘छोड़’ देने का आरोप लगाया। लेकिन वीडियो में वह निडर नजर आते हुए कहते हैं, ‘मुझे पहवाह नहीं। मैं सही रास्ते पर हूं और अपनी आखिरी सांस तक इस जंग को लड़ूंगा। मैं आत्मह,त्या तक कर लूंगा लेकिन हार नहीं मानूंगा।’


वसीम रिजवी के इस कदम का बड़े पैमाने पर विरोध हो रहा है। राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने इसे सांप्रदायिक सौहा,र्द्र बिगाड़ने की कोशिश करार देते हुए रिजवी से 21 दिनों के अंदर माफी मांगने का निर्देश दिया है। वहीं भारतीय जनता पार्टी ने भी रिजवी के कदम का विरोध किया है। पार्टी नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि बीजेपी, कुरान या किसी धार्मिक पुस्तक में बदलाव के समर्थन में नहीं है।

लखनऊ के बड़ा इमामबाड़ा में शिया और सुन्नी दोनों ही पंथ के लोगों ने रिजवी के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए उन्हें मुस्लिम समुदाय से निकाले जाने की घोषणा की। मजलिस-ए-उलेमा-ए-हिंद के मौलाना कल्बे जव्वाद ने कहा कि रिजवी को देश की किसी भी कब्र में जमीन नहीं मिलेगी। वहीं मुरादाबाद के एक वकील ने रिजवी का सिर का,टकर लाने पर 11 लाख रुपये का इनाम रखा है। हालांकि, बाद में इनाम घोषित करने वाले पर भी मुकदमा दर्ज किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *