सुन्नी उलेमाओं के बाद शिया उलेमाओं ने वसीम रिज़वी को लेकर किया बड़ा ऐलान “इसी महीने रैली में

360°

शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी के कुरान मजीद से 26 आयतों को हटाने के बयान और सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई याचिका के विरोध में रविवार को शिया व सुन्नी उलमा ने एक मंच पर आकर वसीम को इस्लाम और कुरान का दुश्मन और आतं,कवादी करार देते हुये उसके सामाजिक बहिष्कार का एलान किया।

उलमा ने वसीम को मुरतद यानि दीन से खारिज बताते हुए कहा कि अब वह मुसलमान नहीं हैं, लिहाजा उन्हें मुस्लिम कब्रिस्ता,न में दफ,नाया भी नहीं जा सकता है। यहां तक कि कोई भी आलिम उसके जनाजे की नमाज भी न पढ़ाये। उलमा ने केन्द्र व राज्य सरकार को ज्ञापन प्रेषित कर वसीम को गिरफ्तार करने की मांग की। साथ ही मांग की गई कि सुप्रीम कोर्ट उसकी याचिका खारिज कर भारी जुर्माना लगाने और आतं,कवाद फैलाने के जुर्म में मामला दर्ज करे।

तय हुआ कि 19 मार्च को जुमे की नमाज के बाद दिल्ली की जामा मस्जिद पर शिया व सुन्नी समुदाय मिलकर बड़ी रैली करेंगे।दरअसल वसीम ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर कुरान मजीद से 26 आयतों हो हटाने की मांग की थी। वसीम का तर्क है कि कुरान की ये आयतें आ,तंकवाद को बढ़ावा देती हैं। वसीम के बयान और याचिका के विरोध में उलमा ने ताहफ्फुजे कुरान रैली का आयोजन किया था। बड़ा इमामबाड़ा के सामने अजादारी रोड़ पर विरोध प्रदर्शन में शिया और सुन्नी समुदाय के सैकड़ों लोगों ने शामिल होकर अपनी नाराजगी जताई।

प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे मजलिस उलेमा ए हिन्द के महासचिव एवं इमामे जुमा मौलाना सैयद कल्बे जव्वाद नकवी ने कहा कि वसीम ने कुरान से आय,तें हटाने की बात कह कर कुरान का अपमान किया है।तय हुआ कि 19 मार्च को जुमे की नमाज के बाद दिल्ली की जामा मस्जिद पर शिया व सुन्नी समुदाय मिलकर बड़ी रैली करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *