तुर्की के राष्ट्पति तय्यब एर्दोगन ने अमेरिका को दी बड़ी चुनोती “हम तुमसे डरने वाले नही

360°

तुर्की के राष्ट्रपति रेचप तैयप एर्दोगन रूस के साथ मिलकर एस-400 मिसा,इल सिस्टम को संयुक्त रूप से बनाने की प्लानिंग कर रहे हैं। तुर्की के उद्योग और प्रौद्योगिकी मंत्री मुस्तफा वरंक ने कहा है कि हम जल्द ही दुनिया के सबसे खतरनाक मिसा,इल सिस्टम एस-400 के दूसरे सेट को खरीदने जा रहे हैं। इसके अलावा रूस और तुर्की ज्वाइंट प्रोडक्शन की तैयारियों पर भी बातचीत कर रहे हैं।

तुर्की के राष्ट्रपति रेचप तैयप एर्दोगन रूस के साथ मिलकर एस-400 मिसा,इल सिस्टम को संयुक्त रूप से बनाने की प्लानिंग कर रहे हैं। तुर्की के उद्योग और प्रौद्योगिकी मंत्री मुस्तफा वरंक ने कहा है कि हम जल्द ही दुनिया के सबसे खतरनाक मि,साइल सिस्टम एस-400 के दूसरे सेट को खरीदने जा रहे हैं। इसके अलावा रूस और तुर्की ज्वाइंट प्रोडक्शन की तैयारियों पर भी बातचीत कर रहे हैं।


इसी मि,साइल सिस्टम को खरीदने के कारण अमेरिका ने काट्सा या काउंटरिंग अमेरिकाज एडवर्सरीज थ्रू सेन्क्शंस एक्ट के अंतर्गत तुर्की रक्षा उद्योग के अध्यक्ष इस्माइल डेमीर पर प्रतिबंध लगा दिया था। तुर्की के रक्षा उद्योग के लिए निर्यात लाइसेंस निलंबित होने के कारण एर्दोगन अपने डिफेंस इंडस्ट्री के बने प्रोडक्ट को कई देशों को निर्यात नहीं कर पाएंगे। यही कारण है कि हाल में ही तुर्की ने अपने हमदम दोस्त पाकिस्तान को लड़ाकू हेलिकॉप्टर बेचने से इनकार कर दिया था। अमेरिका में जो बाइडन के सत्ता में आते ही तुर्की की परेशानियां बढ़ गई हैं।


एर्दोगन को पता है कि बाइडन शुरू से ही तुर्की और रूस के संबंधों के खिलाफ रहे हैं। ऐसे में वह तुर्की को कोई रियायत देने वाले नहीं है। यही कारण है कि एर्दोगन अब रूस के साथ अपने संबंधों को तेजी से मजबूत करने में जुटे हैं। कुछ दिनों पहले ही एर्दोगन ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ मिलकर एक न्यूक्लियर पावर प्लांट की आधारशिला रखी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *