किसान की बेटी बनी IAS , लोग बोले, किसान सिर्फ खेती ही नही करते …

360°

आज हम आपको मध्य प्रदेश के एक छोटे से जिले नरसिंहपुर की रहने वाली तपस्या परिहार (IAS Tapasya Parihar) की सफलता की कहानी बता रहे हैं, जिन्होंने वर्ष 2017 में दूसरी कोशिश में UPSC का एग्जाम 23वीं रैंक के साथ पास किया था। आइए जानें कि तपस्या ने इस मुकाम को प्राप्त करने के लिए संघर्षों से भरी राह कैसे तय की।

तपस्या (IAS Tapasya Parihar) एक छोटे गाँव में रहती थी, इसलिए वहाँ आसपास और समाज की सोच यही थी कि बेटियों की जल्दी शादी हो जानी चाहिए, उन्हें ज़्यादा पढ़ाने लिखाने से कोई फायदा नहीं है, क्योंकि आख़िर शादी कर ससुराल ही जाना है। परन्तु तपस्या इस सम्बंध में काफ़ी भाग्यशाली थीं।

उनके परिवारवाले भले ही गाँव में रहते थे लेकिन उनकी सोच रूढ़िवादी नहीं थी। वे तो ख़ुद तपस्या को पढ़ा लिखा कर काबिल बनाना चाहते थे, इसलिए तपस्या के परिवार वालों ने उनका बहुत साथ दिया। पढ़ाई के लिए जिस भी चीज की आवश्यकता थी तपस्या को उपलब्ध कराई।

इतना ही नहीं तपस्या (IAS Tapasya Parihar) के परिवार को उन पर जितना विश्वास था उतना तो शायद तपस्या को ख़ुद पर भी नहीं था। उनके परिवार वाले क़दम कदम पर तपस्या को प्रोत्साहित करते थे की वह यूपीएससी के इस मुश्किल एग्जाम को भी पास कर सकती हैं। परिवार के इतने सपोर्ट का भी यह परिणाम था कि तपस्या ने अपनी दूसरी कोशिश में बहुत अच्छी रैंक से यूपीएससी का एग्जाम पास किया।

तपस्या का जन्म 22 नवंबर 1992 को हुआ था। वे नरसिंहपुर के जोवा गाँव की हैं। तपस्या के पिताजी का नाम विश्वास परिहार है और वे एक किसान हैं। इनकी माता ज्योति परिहार सरपंच हैं। तपस्या एक जॉइंट फैमिली में रहती हैं इसलिए उनको सभी का प्यार मिला। आपको बता दें कि तपस्या छोटी उम्र से ही पढ़ाई में बहुत होनहार थी। उन्होंने सेंट्रल स्कूल से पढ़ाई की और 10वीं तथा 12वीं दोनों कक्षाओं में अपने स्कूल की टॉपर रहीं। तपस्या की पढ़ाई में रुचि देखकर उनके परिवार ने उन्हें कहा कि उनको UPSC की परीक्षा देनी चाहिए तपस्या को भी लगा कि वह यह परीक्षा दे सकती हैं। क्योंकि सिविल सेवाओं में जाने के लिए ज्यादातर अच्छे स्टूडेंट ही सोचा करते हैं।

स्कूल में टॉप करने की वज़ह से तपस्या (IAS Tapasya Parihar) में आत्मविश्वास आया कि वह भी इस मुश्किल परीक्षा को पास कर सकती हैं। फिर उन्होंने नेशनल लॉ सोसाइटीज़ लॉ कॉलेज, पुणे से लॉ में ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की और फिर UPSC की परीक्षा की तैयारी के लिए दिल्ली रवाना हो गयीं, बाद में वहीं रह कर पढ़ाई किया करती थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *