सचिन -विराट को पीछे छोड़,स्मिथ ने रचा इतिहास,हो रही जम कर तारीफ

Sports

ऑस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने 27वां टेस्ट शतक ठोककर फॉर्म में वापसी की है. भारत के खिलाफ चार मैचों की सीरीज के पहले दो टेस्ट मैचों में स्टीव स्मिथ का बल्ला खामोश रहा. स्टीव स्मिथ ने टीम इंडिया के खिलाफ पहले टेस्ट में 1 और नाबाद 1 रन के स्कोर बनाए. वहीं, मेलबर्न में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में 0 और 8 रनों की पारियां खेलीं.

स्टीव स्मिथ के नाम इस तरह दो टेस्ट मैचों की चार पारियों में कुल 10 रन थे. स्मिथ का बल्ला इससे पहले कभी इतना खामोश नहीं रहा था. लेकिन सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में स्टीव स्मिथ ने पहली पारी में शानदार शतक ठोककर फॉर्म में वापसी की है. स्टीव स्मिथ ने 27वां टेस्ट शतक ठोककर फॉर्म में वापसी की है.

स्मिथ ने 14 पारियों के बाद टेस्ट शतक ठोका है. इससे पहले उन्होंने 4 सितंबर 2019 को इंग्लैंड के खिलाफ मैनचेस्टर में 211 रनों की पारी खेली थी. डॉन ब्रैडमैन के बाद स्टीव स्मिथ ने सबसे तेज 27 टेस्ट शतक जड़ने का कमाल कर दिखाया. डॉन ब्रैडमैन ने सबसे तेज 70 पारियों में 27 टेस्ट शतक ठोके थे. स्टीव स्मिथ ने डॉन ब्रैडमैन के बाद सबसे तेज 136 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की है.

इस मामले में सचिन और कोहली को भी स्मिथ ने पीछे छोड़ दिया है. सचिन और कोहली ने 141 पारियों में ये रिकॉर्ड बनाया था.स्मिथ ने 201 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया. उन्होंने अपनी 226 गेंद की पारी में 16 चौकों की मदद से कुल 131 रन बनाए. सिडनी में भारत के खिलाफ बीते चार मैचों में स्मिथ का यह तीसरा शतक है. इस मैदान के साथ स्मिथ का खास लगाव रहा है और इसी कारण वह यहां जब भी आए हैं, अपने बल्ले की चमक दिखाई है.

स्मिथ ने भारत के साथ जारी मौजूदा सीरीज में वनडे मैचों के दौरान सिडनी में लगातार दो शतक- 105 और 104 रन बनाए थे. स्मिथ की इन्हीं पारियों के दम पर मेजबान टीम ने तीन मैचों की वनडे सीरीज 2-1 से अपने नाम की थी.सके बाद स्मिथ टी-20 सीरीज के लिए यहां लौटे और 46 तथा 24 रनों की पारियां खेलीं. यह सीरीज हालांकि भारत ने 2-1 से जीता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *