शोपियां फेक एनका,उंटर में नया खुलासा, सेना कप्तान ने मजदूरों को अग,वा कर मारी थी गो,ली, पढ़े पूरी खबर

India

जम्मू कश्मीर के शोपियां में हुए फर्जी मुठभेड़ मामले में जम्मू-कश्मीर पुलि,स ने बड़ा खुलासा किया है। इस दौरान पुलि,स विभाग ने चार्जशीट दाखिल कर इस बात का खुलासा किया कि कैसे सेना के कप्तान और उनके दो अन्य साथियों ने मिलकर तीन बेगुनाह मजदूरों को पहले अग,वा किया और फिर मौका-ए-वारदात पर ले जाकर उनकी गो,ली मार,कर ह,त्या कर दी।

इस चार्जशीट में इस पूरे फर्जी एनका,उंटर की पूरी कहानी बयां की गई है।चार्जशीट के खुलासे के मुताबिक यह बताया गया है कि कैसे तीनों पीड़ितों को सेना के कप्तान भूपेंद्र और उनके दो अन्य साथियों ने पहले वहां खड़े एक वाहन में अ,गवा कर लिया और फूल उन्हें एक जगह ले जाकर गो,ली मार दी। वहीं इस मामले की जांच कर रहे अधिकारी ने बताया कि इस घटना के क्रम को जोड़कर इसे नाटकीय मुठ,भेड़ का नाम दिया गया है।

चार्जशीट के अनुसार सेना के कप्तान भूपेंद्र सिंह उर्फ मेजर बशीर खान ने अपने दो साथियों की मदद से उन तीनों युवकों का पहले अपह,रण किया था और फिर उसके बाद उन्होंने तीनों युवकों को मा,र डालने की साजिश रची थी। उनके मृ,त शरीरों के पास अवैध हथि,यार और सामग्री रखना भी इस पूरी प्रक्रिया का हिस्सा था। इसके बाद उन्होंने मा,रे गए तीनों युवकों को आ,तंकी करार दे दिया था।

दरअसल ये पूरा मामला इसी साल 18 जुलाई का है, जब शोपियां के एम्सिपोरा में फर्जी मुठ,भेड़ में तीन मजदूर मा,रे गए थे। इसके बाद उनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुईं थी। मामले के सामने आने के बाद जम्मू के राजौरी जिले में तीन परिवारों ने दावा किया कि मृ,तक उनके परिजन थे। जो शोपियां में मजदूरी करने के लिए गए थे। इसके बाद इस मामले ने तूल पकड़ लिया और लगातार इसकी जांच की मांग की जाने लगी।

जांच पड़ताल की गई तो जम्मू कश्मीर पु,लिस ने खुलासा किया कि यह तीनों रजौरी के निवासी हैं। इन सभी की पहचान रजौरी निवासी के रूप में हुई है। इनमें से इबरार अहमद की उम्र 16 साल, इम्तियाज अहमद की उम्र 25 साल और तीसरे व्यक्ति की उम्र 20 साल बताई जा रही है।जम्मू कश्मीर पुलि,स ने चार्जशीट में सेना के कप्तान भूपेंद्र और उनके दो सिविल साथियों के इस फर्जी एनका,उंटर का खुलासा करते हुए तीनों पर अपरा,धिक साजिश के तहत सबूत नष्ट करने और एक मकसद के साथ गलत जानकारी पेश करने का आरोप लगाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *