VIDEO: हैदराबाद पहुंचने पर सिराज हवाई अड्डे से सीधे पिता की कब्र पर फातिहा पढ़ने पहुंचे

Sports

टीम रहाणे (Ajinkya Rahane) ने कुछ दिन पहले ही ऑस्ट्रेलिया पर सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ जीतों में से एक हासिल की, तो सभी खिलाड़ियों का इसमें योगदान रहा. लेकिन कुछ खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन से हैरान कर दिया. और इनमें से एक रहे मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj). सिराज (Mohammed Siraj) दौरे में दुखों का बड़ा पहाड़ झेलते हुए और दमाम दर्द को दिलों में छुपाए कंगारू बल्लेबाजों को छलनी करते रहे.

 

और जब आखिर में सीरीज में 2-1 से परिणाम सामने आया, तो सभी ने देखा कि अगर सिराज का योगदान नहीं होता, तो यह जीत रूपी तस्वीर भी पूरी नहीं ही होती. आप जानते ही हैं कि दौरे की शुरुआत में सिराज (Mohammed Siraj payes tribute to father) के पिता का निधन हो गया था, लेकिन सिराज (Mohammed Siraj) ने संकट के सबसे बड़े दौर में वापस भारत लौटने की बजाय ऑस्ट्रेलिया में ही रुकने का फैसला  किया.

और इस त्याग का सिराज को ऐसा परिणाम मिला है, जो उन्हें बहुत दूर तक लेकर जाएगा. पिता को श्रृद्धांजलि देने के बाद मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) अपने घर पहुंचे, जहां अपनी भतीजी को गोदी में खिलाते दिखाई पड़े. और घर की  बॉलकनी से ही सिराज ने फैंस का अभिवादन किया पत्रकारों को तस्वीरें दीं.

 

वीरवार सुबह जब यह तेज गेंदबाज अपने शहर पहुंचा, तो हवाई अड्डे से सीधे घर न जाकर दिवंगत पिता की कब्र पर उन्हें श्रृद्धांजलि देने पहुंचा. वास्तव में सिराज के दिवंगत पिता की आत्मा को अपने बेटे पर बहुत ही गर्व हो रहा होगा, जो न जाने कितनी बार दौरे में उन्हें याद करके रोया.

सिराज के पिता मोहम्मद गौस ऑटो-रिक्शा ड्राइवर थे और उनका सपना था कि उनका बेटा भारत के लिए खेले. बेटे को क्रिकेट खिलाने के लिए गौस मोहम्मद और उनके परिवार ने खासा संघर्ष किया, लेकिन दुख की बात यह रही कि पिता अपने बेटे को भारत के लिए खेलते हुए नहीं देख सके.

 

यही वजह रही कि सार्वजनिक मौके पर कैमरे के सामने भी सिराज के तब आंसू बह निकले, जब मैच से पहले राष्ट्रगान बजा. बाद में सिराज ने बताया कि भारत के लिए खेलना उनके पिता का सपना था और इस मौके पर उन्होंने अपने पिता की बहुत ज्यादा याद आयी. मोहम्मद सिराज ऑस्ट्रेलिया दौरे में सबसे सफल भारतीय गेंदबाज रहे. उन्होंने 3 टेस्ट मैचों में 134.2 ओवरों में 32 मेडेन फेंके. इन ओवरों में सिराजने 384 रन दिए और 13 विकेट चटकाए.

 

यही वजह रही कि सार्वजनिक मौके पर कैमरे के सामने भी सिराज के तब आंसू बह निकले, जब मैच से पहले राष्ट्रगान बजा. बाद में सिराज ने बताया कि भारत के लिए खेलना उनके पिता का सपना था और इस मौके पर उन्होंने अपने पिता की बहुत ज्यादा याद आयी. मोहम्मद सिराज ऑस्ट्रेलिया दौरे में सबसे सफल भारतीय गेंदबाज रहे. उन्होंने 3 टेस्ट मैचों में 134.2 ओवरों में 32 मेडेन फेंके. इन ओवरों में सिराजने 384 रन दिए और 13 विकेट चटकाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *