सलमान खान करेंगे गरीबों की मदद, मांगा नम्बर ? यंहा से करे अप्लाई –

Entertainment

बॉलीवुड एक्टर सलमान खान की तगड़ी फैन फॉलोइंग है। हाल ही में सलमान खान चर्चा में आए। दरअसल, उन्होंने वादा किया था कि वह खिद्रापुर गांव में बाढ़ की वजह से नष्ट होने वाले करीब 70 घरों को फिर से बनवाएंगे। सलमान खान ने अपना वादा पूरा किया है। महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री ने ट्वीट कर सलमान खान द्वारा पूरे किए गए वादे को बारे में जानकारी दी।

इसके साथ ही उन्होंने कुछ तस्वीरें भी शेयर कीं। खिद्रापुर गांव, कोहलापुर डिस्ट्रिक्ट में घरों की नीव रखते हुए की कुछ तस्वीरें उन्होंने शेयर कीं। आपको बता दें कि इस समय सलमान खान अपने पनवेल वाले फार्महाउस में दोस्तों के साथ क्वॉलिटी टाइम स्पेंड कर रहे हैं। इसके अलावा सलमान इस समय ‘बिग बॉस 14’ की शूटिंग में भी व्यस्त हैं।

बॉलीवुड हंगामा ने सूत्रों के हवाले से एक रिपोर्ट में लिखा, ‘सलमान खान छोटे पर्दे पर सबसे ज्यादा चार्ज करने वाले एक्टर हैं। बिग बॉस-14 के लिए उन्हें 250 करोड़ रुपये बतौर फीस दिए जा रहे हैं। सलमान वीक में एक बार शूटिंग करेंगे और दिन में दो एपिसोड की शूटिंग होगी। 12 सप्ताह के लिए प्रति दिन एपिसोड करीब 10.25 करोड़ की फीस दी जा रही है। हर साल की तरह इस साल भी सलमान को टेलीविजन चैनल के कुछ अवार्ड शो में भी आना होना होगा।’

रिपोर्ट में आगे बताया गया कि बिग बॉस शो के नए सीजन के लिए सेट फिल्मसिटी मुंबई में बनाया जा रहा है। सूत्र ने कहा, ‘मुंबई में फिल्मसिटी में घर बनाया जा रहा है लेकिन बारिश के कारण काम में बाधा आ रही है। मुंबई से बारिश के जाते ही सेट का काम तेजी से खत्म किया जाएगा। शो अक्टूबर तक फ्लोर पर आ सकता है।’

बॉलीवुड के भाईजान देश में संकट के समय कई लोगों के लिए भगवान की तरह काम कर रहे हैं। सलमान खान लॉकडाइन के दौरान काफी 25000 से ज्यादा मुंबई डेली वर्कर्स की का पेट पाल रहे हैं उनकी दवाई से लेकर घर हर जरूरत का सामान उन तक पहुंचा रहे हैं। सलमान खान इसके अलावा भी सरकार को कई तरीके से मदद कर रहे हैं। सलमान खान कोरोनोवायरस संकट के

दौरान बड़े पैमाने पर सरकार के साथ मदद के लिए कंधे से कंधा मिला कर खड़े हैं। सलमान खान सरकार के साथ मिल कर हर उस गरीब की मदद करना चाह रहे हैं जिसके पास खाने के लिए खाना नहीं हैं। इसके लिए उन्होंने अब एक खाद्य ट्रक लॉन्च किया है, जिस पर बीइंग हैंगरी शब्द लिखा है, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि गरीब लोगों को भुखमरी का सामना नहीं करना पड़े।

(यादे lockdown की)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *