ओवैसी ने मुसलमानो को लेकर यूपी सरकार को घेरा “आखिर मुसलमानो पर इतना जु,र्म

360°

गठबंधन के साथ यूपी चुनाव में कूदने की घोषणा कर चुके एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी लगातार अपनी पार्टी को मजबूत करने के लिए प्रदेश के अलग अलग जिलों का दौरा कर रहे हैं। इस दौरान उनके निशाने पर यूपी की योगी सरकार है। अपने अंदाज के अनुसार ओवैसी मुसलमानों के मुद्दों को पूरे जोर शोर से उठा रहे हैं।

बलरामपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ओवैसी ने यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ पर बड़ा हम,ला किया। उन्होंने मुसलमानों का ज्यादा एनका,उंटर करने का आरोप लगाया। ओवैसी के ह,मले का अब यूपी सरकर के मंत्री मोहसिन रज़ा ने जवाब दिया है।बलरामपुर की सभा में असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि जब से उत्‍तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी है 6 हजार से अधिक एनकाउं,टर हो चुके हैं।


इन एनका,उंटर में जितने भी लोग मा,रे गए हैं, उनमें से 37 फीसदी मुसलमान हैं। ओवैसी ने पूछा कि आखिर मुसलमानों पर जु,ल्म क्यों हो रहा है। उन्‍होंने कहा कि यूपी सरकार जिस तरह से काम कर रही है, उसे देखने के बाद लगता है कि उत्‍तर प्रदेश में संविधान का राज नहीं है। यहां पर हर दिन संविधान की धज्जियां उड़ा,ई जा रही हैं। उन्‍होंने कहा कि सीएम योगी ‘ठो,क दो’ नीति के जरिए मुसलमानों को अपना निशाना बना रहे हैं। ओवैसी ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कयामत का दिन जल्द आएगा और उत्तर प्रदेश में योगी की सरकार नहीं रहेगी।

ओवैसी के हम,लों पर अब यूपी सरकार में मंत्री मोहसिन रजा ने पलटवार किया है। मोहसिन रजा ने कहा कि असदुद्दीन ओवैसी को लोगों को राय देनी चाहिए कि अपराधियों में इतना अधिक हिस्सा क्यों है। ओवैसी को हर किसी को समझाना चाहिए कि वो बैरिस्‍टर बनें न की अपरा,धी। मोहसिन रजा ने कहा कि ओवैसी के पूर्वज देश का बंटवारा करने वालों में रहे हैं। ओवैसी जो बातें कर रहे हैं, वही विभाजन की दस्तक देती है।

ओवैसी के बयान पर डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि कम्‍युनल पॉलिटिक्‍स करने वाले लोग इस तरह का बयान दे रहे हैं। जो लोग अपरा,धियों का समर्थन करते हैं, ऐसे ही बयान देते हैं। वहीं यूपी के कानून मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि किसी भी तरह का आरोप लगाने से पहले अगर ओवैसी साहब फैक्ट जांच लेते तो बेहतर होता। ओवैसी हमेशा ही नफरत की राजनीति करते आए हैं। अप,राध का कोई धर्म नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *