Home Lifestyles कभी मुंबई में चौकीदारी करते थे नवाजुद्दीन सिद्दीकी, फिर इंडस्ट्री में ऐसे...

कभी मुंबई में चौकीदारी करते थे नवाजुद्दीन सिद्दीकी, फिर इंडस्ट्री में ऐसे मिला स्टारडम का ख़जाना

बॉलीवुड एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी इन दिनों अपनी अपकमिंग फिल्मों के लिए तैयारी में जुटे हुए हैं। वहीं हाल ही में नवाजुद्दीन सिद्दीका का म्यूजिक वीडियो ‘बारिश की जाए’ भी लॉन्च किया गया है जिसे दर्शकों का खूब प्यार मिल रहा है। वहीं नवाजुद्दीन सिद्दीकी के अपने इस म्यूजिक वीडियो में किए डांस स्टेप की भी काफी चर्चा है। आज नवाजुद्दीन सिद्दीकी को किसी पहचान की जरूरत ही है। नवाजुद्दीन सिद्दिकी एक ऐसे स्टार हैं जिनकी सादगी और दमदार एक्टिंग से लोगों के दिलों में अपनी खास जगह बनाई है।

लेकिन आपको बता दें कि नवाजुद्दीन सिद्दीकी को यह सफलता इतनी आसानी से नहीं मिली है। हर कोई जानता है कि बॉलीवुड में सफलता हासिल करने के लिए कई कसौटियों से गुजरना पड़ता है। लेकिन कुछ जिद्दी लोगों ने बॉलीवुड के इस पैमाने को तोड़कर रास्ता साफ कर दिया। इन्हीं में से एक हैं एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी। फिल्मों में कोई भी किरदार क्यों ना हो नवाजुद्दीन सिद्दीकी उसमें ऐसी जान फूंक देते कि सामने वाला कह उठे कि इससे बेहतर इस रोल को कोई और नहीं निभा सकता। एक्टर की यही खासियत उन्हें बॉलीवुड में हीरो की भीड़ अलग छांट देती है। चलिए आपको नवाज की निजी जिंदगी से जुड़ी कुछ खास बातें बताते हैं।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के छोटे से कस्बे बुढ़ाना में पैदा हुए नवाजुद्दीन सिद्दीकी बचपन में कोई फिल्मी माहौल नहीं मिला। जहां 80 के दशक के आखिरी दौर में टीवी का घर में होना बड़ी शान की बात माना जाता था लेकिन उस दौर में कस्बे और छोटे शहरों में टीवी की झलक तक नहीं पहुंची थी। वहीं कुछ लोग ऐसे भी थे जिन्होंने अपनी जवानी में छुप-छुप के ब्लैक एंड व्हाइट टीवी देखा करते थे। नवाज भी अपना सारा काम छोड़ कर टीवी देखा करते और यहीं समय था जब नवाज ने एक्टिंग का सपना मन में पाल लिया।

साल 1996 में नवाज ने दिल्ली में दस्तक दी जहां उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से एक्टिंग की पढ़ाई पूरी की। जिसके बाद नवाज अपनी किस्मत आजमाने मुंबई पहुंच गए। हालांकि नवाज को बिल्कुल उम्मीद नहीं थी कि वो एक दिन इतने ज्यादा मशहूर हो जाएंगे। एक्टिंग स्कूल के लिए नवाज ने दाखिला तो ले लिया था लेकिन उनके पास रहने का ठिकाना नहीं था। तो उन्होंने वहीं चौकीदार की नौकरी शुरू कर दी। भले ही नवाज को चौकीदार की नौकरी मिल गई लेकिन शारीरिक रूप से कमजोर होने के चलते वो ड्यूटी के दौरान वो अक्सर बैठे ही रहते थे। जिसके चलते उनको अपनी ये नौकरी गवानी पड़ गई।

RELATED ARTICLES

सिर्फ 15 साल पहले की तो बात है, तब ये 20 चीजें हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा हुआ करती थी, लेकिन अब नहीं

दोस्तों, समय का पहिया जैसे-जैसे घूम कर आगे बढ़ता रहता है वैसे ही अपने साथ परिवर्तन भी लाता है। हम चाहे तब भी समय...

सलमान खान की हो चुकी है दुबई में शादी बेटी भी आई सामने, भाई अरबाज़ खान ने खोला राज़

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अरबाज खान के टॉक शो पिंच 2 को आज सोशल मीडिया प्लेटफोर्म यूट्यूब पर रिलीज़ कर दिया गया है और...

आनंद महिंद्रा का सोने की कार के साथ वीडियो हुआ वायरल आप भी देखे कैसी है ये कार और लोगो ने क्या कहा

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने उस समय थोड़ी बहस छेड़ दी जब उन्होंने चमकदार सोने के रंग में लिपटे फेरारी सुपरकार का...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पार्लियामेंट में आज़म खान को लेकर अखिलेश यादव ने लिया बड़ा फ़ैसला

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के वरिष्ठ नेता आजम खान (Azam Khan) को दोबारा तबीयत खराब होने पर सोमवार शाम राजधानी के एक निजी अस्पताल...

पति Raj Kundra की तरह Shilpa Shetty भी रही हैं कई विवादों में, ये हैं सबसे बड़े मामले

राज कुंद्रा के अरेस्ट के बाद से ही एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी सुर्खियों में है वैसे बता दे की उनके पति राज पर आरोप हैं...

Interview Question : वह कौन सी चीज़ है जो खेत में पैदा हो तो हर कोई खाता है, मगर घर में पैदा हो तो...

देश भर में जितने भी छोटे से बड़े प्रतियोगिता परीक्षा होते है, उन सभी में जनरल नॉलेज (General Knowledge) विषय से जुड़े प्रश्न अवश्य...

हेदाया वहबा ने रियो 2016 में भी कांस मैडल हासिल किया था अब 2021टोकियो में मैडल मिला

टोक्यो ओलंपिक में मेडल जीतने वाले पहली मुस्लिम खातून और मिस्र के लिए भी मैडल जीतने वाली पहली ख़ातून हैं हेदाया वहबा। हेदाया वहबा ने...

Recent Comments