Home Story अयोध्या: हिंदू बाहुल्य गांव में अकेले मुस्लिम ने जीता प्रधानी का चुनाव,...

अयोध्या: हिंदू बाहुल्य गांव में अकेले मुस्लिम ने जीता प्रधानी का चुनाव, देखिए

हाफिज अजीमुद्दीन रजनपुर में अपने परिवार के साथ अकेले रहते हैं. राजनपुर गांव में केवल एक परिवार मुस्लिम परिवार रहता है.

फैजाबाद: उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनावों के परिणाम आ चुके हैं। ये सबके बीच यूपी के फैजाबाद जिले में गांव रजनपुर में एक ऐसे मुस्लइम ग्राम प्रधान ने जीत दर्ज की है. जिस गांव की पहचान बहुताक गैर-मुस्लिम उन्टर के रूप में होती है.

जी हां अयोध्या के रुदौली विधानसभा क्षेत्र के मवई ब्लाक के रजनपुर गांव में हाफिज अजीम उद्दीन ने हिंदू बहुल क्षेत्र में प्रधान का पद जीतकर यह साबित कर दिया है रजनपुर गांव में हिंदू मुस्लिम एकता-मियम है। बहुसंख्यक लोग भी अल्पसंख्याक व्यक्ति को अपनी उपस्थिति चुन सकते हैं। बता दें कि मवई ब्लॉक के रजनपुर गांव के हिंदू बाहुल्य क्षेत्र के लोग एक मुस्लिम व्यक्ति को अपना प्रमुख चुना है.

हालांकि प्रधान के चुनावों में कई हिंदू प्रत्याशी भी प्रधान का चुनाव लड़ रहे थे, लेकिन हिंदुओं ने अपनी उपस्थिति एक मुस्लिम व्यक्ति को चुना। अब इस गांव की चर्चा पूरे जनपद में हो रही है कि हिंदू बाहुल्य से गांव में अकेला मुस्लिम प्रमुख बन सकता है। सीएम योगी बोले- चेतों के इलाज में किसी भी तरह की लापरवाही देखने नहीं, ओवरचार्जिंग पर कड़ी कार्रवाई होगी हाफिज अजीमुद्दीन रजनपुर में अपने परिवार के साथ अकेले रहते हैं.

राजनपुर गांव में केवल यही एक परिवार मुस्लिम परिवार रहता है और साहस कर हाफिज अजीमुद्दीन ने प्रधान का पर्चा दाखिल कर दिया और उन्हें उम्मीद भी नहीं थी कि हिंदू बाहुल्य से गांव में हिंदू लोग उन्हें अपनी उपस्थिति चुनेंगे। जहां एक तरफ हिंदू मुस्लिम नफरत की चिंगारी भड़क उठती है। वहीं नफरती लोगों को रजनपुर गांव के लोगों ने मुंह तोड़ जवाब दिया है.

प्रधानों का शपथ ग्रहण टला वहीं ग्राम प्रधानता के चुनाव के बाद ग्राम पंचायतों का गठन और ग्राम प्रधानों और क्षेत्र पंचायत सदस्यों के शपथ ग्रहण को भरथल टाल दिया गया है। साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख के अप्रत्यक्ष चुनाव पर भी ग्रहण लग गया है.

पंचायतीराज विभाग से मिल रही जानकारी के मुताबिक नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों, क्षेत्र पंचायत सदस्यों और जिला पंचायत अध्यक्ष व ब्लॉक प्रमुखों के चुनाव के लिए जो प्रस्ताव मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजा गया था उसे लौटा दिया गया है। बताया जा रहा है कि ग्रामीण इलाकों में फैले कोरोना संक्रमण की वजह से वर्तमान में सभी कार्यक्रम बंद कर दिए गए हैं.

RELATED ARTICLES

इस्लाम अपनाने वाली 5 खूबसूरत अभिनेत्रियां, नंबर 1 ने धर्म के कारण छोड़ दी इंडस्ट्री

दुनिया के सबसे ज्यादा माने जाने वाले धर्मों में इ,स्लाम दूसरी लिस्ट में हैं भारत देश मे भी इस ध,र्म के मानने वाले बहुत...

साउथ एक्ट्रेस ने क़ुबूल किया इस्लाम, मोनिका नाम बदल कर रखा रहीमा

दक्षिण भारतीय फ़िल्मों की प्रख्यात अभिनेत्री ने इस्लाम स्वीकार किया। अभिनेत्री मोनिका सिलान्थी, भारत के तमिलनाडु राज्य की एक प्रसिद्ध अभिनेत्री हैं। 26 साल...

ऐसा क्या हैं इस “रईस कबूतर” में जो 14.14 करोड़ से भी ज्यादा कीमत में बेचा गया – जानकर हैरान हो जाओगे।

पुरानी इमारतों के मुंडेर या फिर चबूतरे पर बैठने वाले इस मूक प्राणी को कई बार आपने दाना डाला होगा। पर क्या आप अंदाजा...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

वैज्ञनिकों के अनुसार ये है दुनिया की सबसे सुंदर महिला, देखें कैली ब्रुक की विशेष तस्वीरें

एक वैज्ञानिक सर्वेक्षण में यह निष्कर्ष निकाला गया है कि केली ब्रुक का चेहरा और शरीर दुनिया में सबसे सुंदर है. वह ना ही...

गार्ड चाहिए, सैलरी 30000 , रहना खाना। फोटो दबाकर नम्बर लें

Bisleri कंपनी में भर्ती मिल रहा है बढ़िए मौका सैलरी 35000कोई भी अप्लाई कर सकता है अप्लाई करने के लिए सबसे नीचे जाइये पति भगवान्...

सवाल यदि कोई 18 साल की लड़की ढीले-ढाले कपड़े पहन आपके आगे झुक के प्रणाम करे तो सबसे पहले आपको क्या दिखेगा?

आपको बताते चलें कि देश के अधिकांश युवा वर्ग आज आईएएस आईपीएस की तैयारियों में जुटा हुआ है लेकिन आईएएस आईपीएस अधिकारी बनना इतना...

ज़ाहिद कुरैशी अमेरिकी जज बनने वाले पहले मुस्लिम

अमेरिकी सीनेट (उच्च सदन) ने पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी नागरिक जाहिद कुरैशी के न्यूजर्सी में डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में नामांकन को मंजूरी दे दी है।...

Recent Comments