जामा मस्जिद के मौलाना ने राहुल गांधी की रैली के लिए कही बड़ी बात”अबकी बार तल,वार लटकी

360°

राजस्थान में नागौर जिले के मकराना में 13 फरवरी को कांग्रेस नेता राहुल गांधी की रैली में ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने को लेकर मकराना की मस्जिद से मौलाना शमसुद्दीन कादरी द्वारा ऐलान किए जाने और ‘2025 में तल,वार लटकी हुई है’ वाले बयान का वीडियो वायरल होने पर राज्य की राजनीति में भूचाल आ गया है।जिसके बाद राज्य की विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी आक्रामक हो गई और वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस के नेता बचाव करते दिखे और पूरा दोष बीजेपी पर डाल रहे है। 

बीजेपी ने इस पूरे मामले को कांग्रेस की तुष्टिकरण की नीति बताया और कहा कि कांग्रेस सरकार मस्जिद जैसे पवित्र स्थानों का भी राजनीतिकरण कर रही है। भीड़ जुटाने के लिए इस तरह के हथकंडे अपनाना कांग्रेस कि पुरानी फितरत है। भीड़ की कमी कांग्रेस के पास है किसानों के नाम पर  या तो इनको प,त्थर बाज इकठे करने पड़ते है या मस्जिद से फतवे जारी कराने पड़ते है। 


कांग्रेस के कैबिनेट मंत्री बी. डी.कल्ला का कहना है कि बीजेपी महंगाई, किसान आंदोलन जैसे मुद्दों से जनता को ध्यान भटकाने के लिए ऐसे हथकंडे अपना रही है, मस्जिद से ऐसा कोई ऐलान नहीं किया गया,जबकि वीडियो वायरल हो चुका है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्रीय कृषि कानूनों को लेकर एक बार फिर केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए शनिवार को कहा कि इन कानूनों के जरिए देश की रीढ़ को तो,ड़ा जा रहा है।

इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि इन कानूनों के जरिए देश के दो-तीन उद्योगपतियों के लिए रास्ता साफ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे लोगों को ‘आंदोलनजीवी’ कहकर उनका अपमान किया है।राजस्थान के दो दिन के दौरे पर आए गांधी शनिवार को मकराना नागौर में किसान महापंचायत को संबोधित कर रहे थे। राजस्थान के दो दिवसीय दौरे पर आए गांधी ने इससे पहले सुरसुरा में लोक देवता तेजाजी महाराज मंदिर में दर्शन किए और पूजा की। 


कांग्रेस के इस कार्यक्रम में किसान अपने-अपने ट्रैक्टर लेकर पहुंचे थे। वहां मंच भी बड़ी-बड़ी ट्रालियों को जोड़कर बनाया गया था। मंच पर बैठने के लिए कुछ नहीं था लेकिन गांधी के संबोधन के बाद वहां कुछ चारपाइयां रखी गयीं। मंच के पास पानी के मटके रखे गए थे।यहां से मकराना जाते हुए परबत सर के पास गांधी का स्वागत किया गया। वहां गांधी ने विशेष रूप से सजाई गई ऊंट गाड़ी पर चढ़कर लोगों का अभिवादन किया। इस अवसर गांधी का स्वागत गेहूं की बालियों का बना गुच्छ देकर किया गया।ये खबर रिपब्लिक भारत से ली गयी है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *