क्रिकेटर मोहम्मद यूसुफ का बड़ा बयान, इस्लाम अपनाने ओर नमाज पढ़ने को लेकर कही बड़ी बात”मुझे जबरदस्ती इस्लाम

Lifestyles

पाकिस्तान के पूर्व बल्लेबाज मोहम्मद यूसुफ ने साल 2006 में अपने शानदार प्रदर्शन का श्रेय खुद के इस्लाम अपनाने को दिया है। यूसुफ ने उससे एक साल पहले ही इस्लाम धर्म अपनाया था। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट यूसुफ योहाना के नाम से खेलना शुरू किया था। वह वॉलिस मैथीज, एंटाओ डिसूजा और डंकन शार्प के बाद पाकिस्तान के लिए खेलने वाले चौथे ईसाई खिलाड़ी थे।

साल 2004 में वह पाकिस्तान की कप्तानी करने वाले पहले गैर-मुस्लिम खिलाड़ी भी बने थे।लेकिन साल 2005 में पूर्व पाकिस्तानी बल्लेबाज ने इस्लाम अपनाने का फैसला किया और इस्लामी नाम, मोहम्मद यूसुफ भी अपना लिया। उनके साथ ही उनकी पत्नी तान्या ने भी धर्म-परिवर्तन कर अपना नाम फातिमा कर लिया। यूसुफ ने उस साल पहले भारत के खिलाफ लाहौर में 199 गेंद पर 173 रन की पारी खेली।

इसके बाद उन्होंने 2006 में पाकिस्तान के इंग्लैंड दौरे पर जबर्दस्त प्रदर्शन किया। यहां तक कि उस साल उन्होंने एक कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा रन के विवियन रिचर्ड्स के रेकॉर्ड को तोड़ा। उस साल उन्होंने 1788 रन बनाए और रिचर्ड्स के 1710 के रेकॉर्ड को तोड़ा।विजडन को दिए हालिया इंटरव्यू में उन्होंने माना था कि वह अपने करीबी दोस्त सईद अनवर से काफी प्रभावित थे जो अपनी बेटी की मौ,त के बाद धार्मिक हो गए थे।

यूसुफ ने कहा कि उन्होंने इसके बाद सईद अनवर की जिंदगी में बदलाव आते देखे थे। उन्होंने पाकपेशनडॉटनेट से कहा था, ‘मुझे किसी ने जबर्दस्ती धर्म परिवर्तन नहीं करवाया। सच्चाई यह है कि मैं सईद अनवर के काफी करीब था। हम मैदान पर और मैदान के बाहर अच्छे दोस्त थे। हमने अपनी किशोरावस्था में काफी क्रिकेट एक साथ खेला था। मैंने सईद के साथ काफी वक्त बिताया और उसके माता-पिता मुझे अपने बेटे की तरह समझते थे। जब मैं उनके घर पर होता था तो मैं देखता था कि उसके माता-पिता कितना शांत और अनुशासित जीवन जीते थे।


इससे मैं काफी प्रभावित हुआ।’यूसुफ ने कहा, ‘मैंने सईद अनवर की जिंदगी धार्मिक बनने से पहले और बाद में देखी थी। मैंने देखा था जब सईद को निजी क्षति हुई, उनकी बेटी की मौ,त हो गई थी। सईद ने इसके बाद इस्लाम की राह अपनाई। यह मेरे लिए एक प्रेरणा था और टर्निंग पॉइंट था। इसके बाद मैंने इस्लाम में परिवर्तित होने का फैसला किया।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *