Home Sports तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने आईपीएल से पहले की संन्यास की बात,...

तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने आईपीएल से पहले की संन्यास की बात, सामने आया बड़ा सच

भारतीय क्रिकेट टीम के सीनियर तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक जीत में टीम के नेट गेंदबाजों के प्रदर्शन ने दिखा दिया कि जब मौजूदा आक्रमण के खिलाड़ी संन्यास लेंगे तो बदलाव का दौर काफी आसान रहेगा। कंगारू सरजमीं पर टी नटराजन जैसे धाकड़ गेंदबाज टीम के साथ बतौर नेट गेंदबाज जुड़े थे, लेकिन वहां उन्होंने तीनों फॉर्मेट में देश के लिए डेब्यू किया।

शमी, इशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह और उमेश यादव की तेज गेंदबाजों की चौकड़ी यकीनन भारत का सर्वश्रेष्ठ आक्रमण है, जो टीम की विदेश में सफलता में काफी अहम रहा है। हालांकि, भारत ने जब गाबा में जीत से ऑस्ट्रेलिया में लगातार दूसरी टेस्ट सीरीज अपने नाम की तो इनमें से कोई भी उपलब्ध नहीं था, लेकिन, मोहम्मद सिराज जैसा युवा अपनी पदार्पण सीरीज में आक्रमण का अगुआ बना और चोटिल गेंदबाजों की अनुपस्थिति में नेट गेंदबाज जैसे शार्दुल ठाकुर, टी नटराजन और वाशिंगटन सुंदर को मौके मिले, जिसका उन्होंने पूरा फायदा उठाया।शमी कलाई की चोट के कारण एडिलेड टेस्ट के बाद सीरीज से बाहर हो गए थे।

उन्होंने कहा, “जब हमारा संन्यास लेने का समय आएगा तो युवा हमारी जगह लेने के लिए तैयार होंगे। वे जितना अधिक खेलेंगे, उतना ही बेहतर होंगे। मुझे लगता है कि जब हम संन्यास लेंगे तो बदलाव का दौर काफी आसान रहेगा। अगर एक बड़ा खिलाड़ी संन्यास लेगा तो टीम को कोई परेशानी नहीं होगी। बेंच तैयार है। अनुभव हमेशा ही जरूरी होता है और युवा इस दौरान अनुभव हासिल कर लेंगे। नेट गेंदबाजों को बायो-बबल के माहौल में ले जाने से उन्हें काफी फायदा मिला और उन्हें काफी अहम मौके मिले।”

कार्तिक त्यागी को छोड़कर ऑस्ट्रेलिया गई भारत की विशाल टीम के सभी गेंदबाजों को मुश्किल परिस्थितियों में खेलने का मौका मिला क्योंकि शमी, बुमराह और उमेश सीरीज के दौरान चोटिल हो गए थे, जबकि इशांत दौरे पर गए ही नहीं थे।

RELATED ARTICLES

हेदाया वहबा ने रियो 2016 में भी कांस मैडल हासिल किया था अब 2021टोकियो में मैडल मिला

टोक्यो ओलंपिक में मेडल जीतने वाले पहली मुस्लिम खातून और मिस्र के लिए भी मैडल जीतने वाली पहली ख़ातून हैं हेदाया वहबा। हेदाया वहबा ने...

टोकियो ओलंपिक में मुसलमानों के लिए एक नई तरह की मोबाइल मस्जिद की सहूलियत

ओलंपिक की शुरुआत से पहले निर्माणाधीन खेल गांव में प्रार्थना कक्ष उपलब्ध रहेंगे। हालांकि, कुछ जगहों पर यह नहीं भी हो सकता है। जापान...

दो मुस्लिम एथलीट ने इज़राईली एथलीट के साथ खेलने से किया इन्कार

जैसा कि हम सभी को पता है कि टोकियो में ओलपिंक गेम्स चल रहे हैं फिलिस्तीन में ज़ायोनी कब्जे का दूरगामी प्रभाव पश्चिम में...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पार्लियामेंट में आज़म खान को लेकर अखिलेश यादव ने लिया बड़ा फ़ैसला

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के वरिष्ठ नेता आजम खान (Azam Khan) को दोबारा तबीयत खराब होने पर सोमवार शाम राजधानी के एक निजी अस्पताल...

पति Raj Kundra की तरह Shilpa Shetty भी रही हैं कई विवादों में, ये हैं सबसे बड़े मामले

राज कुंद्रा के अरेस्ट के बाद से ही एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी सुर्खियों में है वैसे बता दे की उनके पति राज पर आरोप हैं...

Interview Question : वह कौन सी चीज़ है जो खेत में पैदा हो तो हर कोई खाता है, मगर घर में पैदा हो तो...

देश भर में जितने भी छोटे से बड़े प्रतियोगिता परीक्षा होते है, उन सभी में जनरल नॉलेज (General Knowledge) विषय से जुड़े प्रश्न अवश्य...

हेदाया वहबा ने रियो 2016 में भी कांस मैडल हासिल किया था अब 2021टोकियो में मैडल मिला

टोक्यो ओलंपिक में मेडल जीतने वाले पहली मुस्लिम खातून और मिस्र के लिए भी मैडल जीतने वाली पहली ख़ातून हैं हेदाया वहबा। हेदाया वहबा ने...

Recent Comments