बदरुद्दीन अजमल के बेटे के ‘दाढ़ी, टोपी, लुंगी वालों की सरकार’ पर भड़के पीएम मोदी, बोले- ऐसे लोगो को देश

360°

असम में वोट के टोपी, दाढ़ी और लुंगी की सिसायत करने वालों के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज जमकर बरसे। असम के तामूलपुर में रैली को संबोधित करते हुये उन्होंने विरोधियों पर चौतरफा हमला बोला किया और विकास की बात की। पीएम मोदी ने कहा कि ऐसे लोगों को सत्ता में आने से रोकें। एआईयूडीएफ पार्टी प्रमुख बकरुद्दीन अजमल के बेटे के ‘असम में दाढ़ी, टोपी, लुंगी वालों की सरकार’ वाले बयान पर पलटवार करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “चुनाव अभी चल रहा है।

मैंने सुना कि कुछ लोगों ने घोषणा कर दी है। उसमें दो बाते हैं। एक तो उन्होंने उसमें मान लिया है कि ये चुनाव में हार चुके हैं और अगली सरकार कैसी बनेगी। वो सरकार वालों ने क्या पहना होगा, वो सरकार वाले क्या दिखते होंगे, इसका वर्णन किया है। इससे बड़ा असम का कोई अपमान नहीं हो सकता। इससे बड़ा असम की संस्कृति का कोई अपमान नहीं हो सकता है। अभी से पांच साल के बाद असम को कब्जा करने की व्यूह रचना, सपने। ये चौंकाने वाली बाते हैं। आपसे मेरा आग्रह है कि आपको भारी संख्या में मतदान करने के लिए निकलना है।”

बता दें, असम में कांग्रेस की साझेदार  एआईयूडीएफ पार्टी प्रमुख बकरुद्दीन अजमल के बेटे अब्दुर रहीम अजमल ने विवादित बयान दिया है। रहीम ने दावा किया कि वह दाढ़ी , टोपी और लुंगी पहनने वालों लोगों की सरकार बनाएंगे। एआईयूडीएफ पार्टी के प्रत्याशी फणीधर तालुकदार के लिए असम के बभनीपुर में एक चुनाव को संबोधित करते हुए कहा कि ‘इस बार यह गरीब लोगों की सरकार होगी. सरकार में दाढ़ी, टोपी और लुंगी वाले पुरुष होंगे।’

दूसरी रैली में अजमल ने कहा कि चुनाव जीतने के बाद लोगों को बुर्का , दाढ़ी और इस्लामी टोपी की इज्जत करनी होगी। अजमल ने आगे कहा, ‘हमारी माताओं और बहनों के दुपट्टे का सम्मान करना होगा, हमारी माताओं और बहनों के बुर्का का सम्मान करना होगा, हमारी दाढ़ी और टोपी का सम्मान करना होगा।’अजमल के इस बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने कहा ये मनसुबा दिल से निकाल लें, मोदी जी देश के पीएम हैं जिन्होंने सबका साथ सबका विकास कहा है। ये सनातन की धरती है, धर्म की आड़ में कोई असम में अशांति नहीं फैला सकता है। असम की धरती पर घु,सपैठियों का निकलना तय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *