नि’काह से पहले जि’ना उसके बाद उसी ल’ड़की से शा’दी करना क्या ह’राम है ? जानिए ये ए’हम म’सला…

Lifestyles

इ’स्ला’म ध’र्म में हमारे न’बी ने हर चीज की जानकारी दी है। छोटी से छोटी चीज से लेकर किसी बड़े मसले को भी नबी के बताए रास्ते पर चलकर आराम से हल किया जा सकता है। आज हम बात करने जा रहे हैं कि नि’का’ह से पहले जितना करना और फिर उस लड़की से नि’का’ह करना कैसा होता है।

गौरतलब है कि आजकल के वक्त में युवा नि’का’ह से पहले ही जि’न्ना कर लेते हैं। जिसे गलत माना जाता है। वहीं कुछ लोग इसे सही भी मानते हैं। तो आइए आज आपको बताते हैं कि क्या यह गल’त है या सही। मौ’ला’ना मक्की अल हिजाजी ने इस मामले में यह कहा है कि औरत निकाह के लिए जानी मर्द को ही ढूंढती है और नि’का’ह के लिए मर्द भी जानी औरत को ही ढूंढते हैं।

अ’ल्ला’ह ने इ’स्ला’म में यह ह’रा’म कर दिया है कि कोई भी मर्द या औरत किसी जानी से नि’का’ह करें। ह’जूर ने फरमाया है कि किसी भी जानी औरत या मर्द से नि’का’ह फरमाना ह’रा’म है। वहीँ अगर कोई मर्द श’रा’ब पीता है या फिर किसी भी तरह का न’शा करता है तो उसे किसी अच्छी लड़की से शादी नहीं करनी चाहिए।

गौरतलब है कि जब अ’ल्लाह ने इस्ला म में किसी भी जानी मर्द और औरत से नि’का’ह करना ह’रा’म फरमाया है तो अगर कोई इसके खि’ला’फ जाकर ऐसा करता है तो यह बहुत ही गल’त माना जाता है। इ’स्ला’म में कहा गया है कि किसी भी मर्द को त’वाय’फ के साथ लिखा नहीं करना चाहिए अगर किसी मर्द का किसी औरत के साथ ना’जा’यज रि’श्ता हुआ और उससे उसने नि’का’ह कर लिया तो क्या यह निकाह होगा या नहीं होगा।

इस पर हु’जूर ने फ’रमा’या है कि अगर वह दोनों तोबा कर ले और तौ’बा करने के बाद वह है उसके साथ नि’का’ह कर ले तो यह निकाह माना जाएगा। गौरतलब है कि इ’स्ला’म में नि’का’ह को एक प’वित्र बंध’न में बं’धने का जरिया बताया गया है जिससे म’र्द और औरत अपनी आगे की जिंदगी को आगे बढ़ाते हैं। ज्यादा जानकारी हासिल करने के लिए आप नीचे दी गई को भी देख सकते हैं और इसे जमकर शेयर भी करें ताकि अन्य लोगों को भी इस मामले में जानकारी हासिल हो पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *