370 पर जमकर बरसी महबूबा मुफ़्ती”किसानों की तरह आंदोलन करे जम्मू कश्मीर”

360°

जम्मू और कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने घाटी से अनुच्छेद 370 हटाने को लेकर एक बार फिर केंद्र पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि ‘जम्मू और कश्मीर के लोगों को विशेष राज्य का दर्जा वापस पाने के लिए किसानों की तरह ही आंदोलन शुरू करना होगा’।मुफ्ती ने उत्तरी कश्मीर के बारामूला में मीडिया से बात करते हुए केंद्र पर तीखा हमला किया है।

उन्होंने केंद्र सरकार पर ‘जम्मू और कश्मीर के लोगों को राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक रूप से कमजोर बनाने’ का आरोप लगाते हुए कहा कि ‘वे केंद्र के आगे नहीं झुकेंगे’। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि “मैं कार्यकर्ताओं को जम्मू-कश्मीर की हालत बताना चाहती हूं। 2019 के बाद से जम्मू कश्मीर की हालत ठीक नहीं है, जिस तरह से जम्मू कश्मीर को लूटा गया है, उसके बाद जम्मू-कश्मीर के लोग बहुत डरे हुए हैं।

पीडीपी का एजेंडा है कि हमने जो 370 और 35A हटने से अपने अधिकार खो दिए हैं, उन अधिकार और पहचान को वापस लाएं।”उन्होंने आगे कहा- “पहले घाटी में असंवैधानिक तरीके से अनुच्छेद 370 और 35ए को हटाया गया और फिर वहां कई कानून लागू किए गए जो स्थानीय लागों के हितों के खिलाफ हैं। उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि पांच अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर और इसके आवाम से उसकी पहचान छीन ली गई थी और उनके अधिकार खत्म कर दिए गए थे।

हालांकि, मुफ्ती का कहना है कि घाटी के लोग अपने अधिकार वापस लेकर रहेंगे।”आगे केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले ढाई महीने से दिल्ली सीमा पर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों का उदाहरण देते हुए पीडीपी नेता ने कहा कि जम्मू और कश्मीर के लोगों को अपने अधिकार वापस पाने के लिए, किसानों की तरह ही आंदोलन करना होगा।
उन्होंने कहा- “जिस तरह से पूरे देश में तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ लोग शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे हैं,


वैसे हम भी जम्हूरियत के तौर तरीकों पर चलते हुए शांतिपूर्ण तरीके से अपने हक और पहचान की वापसी के लिए मांग उठाएंगे।”ये न्यूज़ रिपब्लिक भारत से ली गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *