बांग्लादेश के खिलाड़ी ने क्वा,रंटीन से बाहर आकर सुनाया अपना दर्द,किसी ने नही की थी उम्मीद

Sports

बांग्लादेश के स्पिनर मेहदी हसन ने क्वारंटीन को लेकर बयान दिया है। मेहदी हसन का कहना है कि शुरुआती तीन दिन तक ऐसा लगा जैसे मैं जेल में हूँ। न्यूजीलैंड दौरे पर सीमित ओवर सीरीज के लिए गई बांग्लादेश की टीम और सपोर्ट स्टाफ इस समय क्राइस्टचर्च में कड़े क्वारंटीन से गुजर रहे हैं। उन्हें 14 दिनों की अवधि के लिए वहां रहना होगा।कोरोना गाइडलाइन के अनुसार क्वारंटीन के शुरुआती तीन दिनों के लिए खिलाड़ियों को पूरी तरह से कमरों के अंदर रहना था।

इसके बाद चौथे दिन से उन्हें क्वारंटीन परिसर के अंदर ही कुछ समय के लिए घूमने का मौका दिया गया। इस दौरान भी दूरी बनाकर रखना अनिवार्य था।मेहदी हसन ने कहा “पहले तीन दिनों के लिए हम कमरों के अंदर थे। इसके बाद सभी को आधे घंटे के लिए बाहर जाने का मौका मिला। जब मैं पहली बार बाहर गया था मेरा सिर थोड़ा घूम रहा था।

10 से 15 मिनट के बाद यह साधारण हो गया। मैंने सोचा कि मैं शुरुआती तीन दिनों तक जेल में था और यह निराशा वाला था।”मेहदी हसन ने बाहर आने के बाद अच्छा महसूस होने और मौसम के साथ तालमेल बैठाने की बात भी कही। उन्होंने यह भी माना कि हर समय कमरे में ही रहना अच्छा नहीं लगता है।बकौल मेहदी “जब मैं बाहर आया और मौसम के साथ तालमेल बैठाया, तो कुछ बेहतर महसूस किया। कमरे के अंदर वापस जाने के बाद मुझे ताजगी महसूस हुई।

पूरे दिन कमरे में ही रहने से अच्छा नहीं लगता। यह वास्तव में हमारे लिए एक कमरे में तीन या चार दिन बिताना थोड़ा थोड़ा असहज है और इसलिए जब हमें तीस मिनट के लिए बाहर जाने का मौका मिला, तो अच्छा लगा।”बांग्लादेश क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों को अपनी खेल गतिविधियाँ शुरू करने की अनुमति 7 दिन क्वारंटीन के बाद मिलेगी। ट्रेनिंग के लिए खिलाड़ियों को पांच-पांच के ग्रुप में बांटा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *