Home 360° जिसने फहराया था लाल किले पर झंडा, वह निकला भाजपा नेता सनी...

जिसने फहराया था लाल किले पर झंडा, वह निकला भाजपा नेता सनी देओल का करीबी

26 जनवरी पर हुए किसान आंदोलन में प्रदर्शनकारी किसानों की और से हुई वायलेशन को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. इस के पीछे ‘दीप सिद्धू’ का नाम आ रहा है. जिससे बीजेपी सांसद सनी देओल का करीब बताया जा रहा है. किसानों का कहना है कि दीप सिद्धू और लाखा सिधाना ने ही किसानों को लाल किला पर जाने के लिए भड़’काया था.

भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि अभिनेता तन दीप सिद्धू सिख नहीं हैं, वह भाजपा के कार्यकर्ता हैं। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने लाल किले पर हिं’सा और फहराए झंडे बनाए हैं, उन्हें अपने कामों के लिए भुगतान करना होगा। पिछले दो महीने से एक समुदाय विशेष के खिला’फ साजि’श चल रही है। यह सिखों का नहीं बल्कि किसानों का आंदोलन है.

राकेश टिकैत ने कहा कि दिल्ली पुलिस की ”कार्रवाइयों” के कारण कुछ अ’सामाजिक तत्व परेड में शामिल हो गए और यह हिं’सा का कारण बना। टिकैत ने सिद्धू पर ट्रैक्टर परेड ‘हाई’जैक’ करने का आरोप भी लगाया है। उन्होंने कहा कि बीकेयू शांतिपूर्ण प्रदर्शन में विश्वास करता है और हिं’सा के पीछे उप’द्रवियों की पहचान करेगा.

लाल किला पर झंडा लगाने के दौरान मौजूद रहे अभिनेता दीप सिद्धू ने मंगलवार को प्रदर्शनकारियों के कृत्य का यह कह कर बचाव किया कि उन लोगों ने राष्ट्रीय ध्वज नहीं हटाया और केवल एक प्रतीकात्मक विरोध के तौर पर ‘निशान साहिब’ को लगाया था।

दीप सिद्धू ने कहा, ‘नये कृषि कानूनों के खिलाफ प्रतीकात्मक विरोध दर्ज कराने के लिए, हमने ‘निशान साहिब और किसान झंडा लगाया और साथ ही किसान मजदूर एकता का नारा भी लगाया।’ उन्होंने ‘निशान साहिब’ की ओर इशारा करते हुए कहा कि झंडा देश की विविधता में एकता का प्रतिनिधित्व करता है। ‘निशान साहिब’ सिख धर्म का एक प्रतीक है जो सभी गुरुद्वारा परिसरों में लगा देखा जाता है।

उन्होंने कहा कि लालकिले पर ध्वज-स्तंभ से राष्ट्रीय ध्वज नहीं हटाया गया और किसी ने भी देश की एकता और अखंडता पर सवाल नहीं उठाया। पिछले कई महीनों से किसान आंदोलन से जुड़े सिद्धू ने कहा कि जब लोगों के वास्तविक अधिकारों को नजरअंदाज किया जाता है तो इस तरह के एक जन आंदोलन में ”गु’स्सा भ’ड़क उठता है। उन्होंने कहा, ‘आज की स्थिति में, वह गु’स्सा भ’ड़क गया।’

बता दें कि दीप सिद्धू अभिनेता सनी देओल के सहयोगी थे, जब अभिनेता ने 2019 के लोकसभा चुनावों के दौरान गुरदासपुर सीट से चुनाव लड़ा था। 2019 के लोकसभा चुनाव में सनी देओल के पूरे प्रचार में वह उनके साथ रहे थे। हालांकि भाजपा सांसद ने पिछले साल दिसंबर में किसानों के आंदोलन में शामिल होने के बाद सिद्धू से दूरी बना ली थी।

RELATED ARTICLES

आयशा सुल्ताना के खि’ला’फ देश’द्रो’ह का के’स लगा तो bjp नेताओ ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली. लक्षद्वीप में स्थानीय बीजेपी नेता ही फिल्म प्रोड्यूसर और एक्ट्रेस आयशा सुल्ताना (Aisha Sultana) के खि'ला'फ देश'द्रो'ह का माम'ला दर्ज किए जाने...

साकिब उल हसन ने गु’स्से में उखाड़ फेके तीनो स्टम्प

नई दिल्ली. बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब उल हसन अक्सर वि'वा'दों में घिरे रहे हैं. कभी देश के क्रिकेट बोर्ड से ट'क:रा'व को लेकर, तो...

उत्तर प्रदेश महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी का बयान लड़कियां फ़ोन रखती है इस लिए भाग जाती है

उत्तर प्रदेश महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी का बयान काफी चर्चाओं में है. यूपी महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी ने अलीगढ़ में...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

4 भारतीय खिलाड़ी जिन्होंने आज तक नहीं लगाया एल्कोहल को हाथ, नशे से करते हैं तौबा, मु-स्लिम

भारतीय टीम (Indian Team) के ऐसे कई क्रिकेटर हैं, जो स्मोकिंग भी करते हैं और शराब का सेवन भी करते हैं. हार्दिक पांड्या को...

आयशा सुल्ताना के खि’ला’फ देश’द्रो’ह का के’स लगा तो bjp नेताओ ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली. लक्षद्वीप में स्थानीय बीजेपी नेता ही फिल्म प्रोड्यूसर और एक्ट्रेस आयशा सुल्ताना (Aisha Sultana) के खि'ला'फ देश'द्रो'ह का माम'ला दर्ज किए जाने...

साकिब उल हसन ने गु’स्से में उखाड़ फेके तीनो स्टम्प

नई दिल्ली. बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब उल हसन अक्सर वि'वा'दों में घिरे रहे हैं. कभी देश के क्रिकेट बोर्ड से ट'क:रा'व को लेकर, तो...

महिला से पूछा गया सवाल वह कौन सा कार्य है जो सिर्फ रात में ही किया जाता है?

बचपन से ही हर किसी का सपना होता है की वह आईएएस बने लेकिन हर कोई इस सपने को पूरा नहीं कर पाता। कोई...

Recent Comments