Home 360° कंगना रनौत ने ‘किसान हिंसा’ पर दिलाई CAA की याद, दिलजीत दोसांझ...

कंगना रनौत ने ‘किसान हिंसा’ पर दिलाई CAA की याद, दिलजीत दोसांझ पर साधा निशाना

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत मंगलवार से किसानों की हिंसक ट्रैक्टर रैली पर जमकर अपना गुस्सा जाहिर कर रही हैं। इसे ‘काला दिन’ करार देते हुए, एक्ट्रेस ने दिलजीत दोसांझ और प्रियंका चोपड़ा जोनस को भी आड़े हाथों ले लिया है जिन्होंने पहले केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन किया था। साथ ही, क्वीन एक्ट्रेस ने पीएम नरेंद्र मोदी से इन कानूनों को जल्द लागू करने की अपील भी की है।

उन्होंने बुधवार को ट्वीट करते हुए लिखा- “सीएए को इतने आतंक के बाद होल्ड पर रख लिया गया, मुझे यकीन है कि कृषि बिल को भी ठंडे बस्ते में धकेल दिया जाएगा। हमने एक लोकतंत्र के रूप में एक राष्ट्रवादी सरकार को चुना है, फिर भी देशविरोधी जीत रहे हैं। भारत के लिए काला दिन है ये, कृपया इन कानूनों को लागू करें और हमारे लोकतंत्र को जिताएं।”

आगे उन्होंने एक यूजर के ट्वीट का जवाब देते हुए, पंजाबी सुपरस्टार को फिर घेर लिया है और कहा है कि ‘दिलजीत दोसांझ जानते हैं कि वे क्या कर रहे हैं, फिर भी इसका समर्थन कर रहे हैं।’उन्होंने लिखा- “समस्या यह है कि हम अभी भी सोचते हैं कि हमें उन्हें इस बारे में बताने की जरूरत है कि वे किसका समर्थन करते हैं, जैसे कि ये उन्हें बदल देगा। बेशक वे जानते हैं कि वे क्या कर रहे हैं। डंके की चोट पे वे लाल किले पर खालिस्तान का झंडा फहराते हैं, सच तो यह है कि ये जंगल राज है- जिसकी लाठी उसकी भैंस और लाठी उनके पास थी।”

उन्होंने एक और यूजर की तस्वीर पर कमेंट किया है जिसमें पुलिसवालों पर कुछ लोग कथित तौर पर लाठी से हमला करते नजर आ रहे हैं। इस तस्वीर पर कंगना ने लिखा- ‘ये दिलजीत के चेहरे पर थप्पड़ नहीं है। यही तो वो चाहते थे। उन्हें जो चाहिए था वो इस देश ने थाली में सजाकर दे दिया है।’दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को प्रदर्शनकारियों के साथ झड़पों में 300 पुलिस कर्मियों के घायल होने की घोषणा की है। सिंघू सीमा, टिकरी सीमा और गाजीपुर सीमा से निकलने वाले तीन मार्गों पर ट्रैक्टर रैली के लिए दी गई अनुमति का उल्लंघन करते हुए, प्रदर्शनकारियों ने विभिन्न स्थानों पर लगाए गए बैरिकेड को तोड़ दिया।

डीटीसी बस की बर्बरता से लेकर ट्रैक्टर को पुलिस पर चढ़ाने के कथित प्रयास तक, विजुअल्स हैरान करने वाले थे। कुछ प्रदर्शनकारियों को लाठियों और तलवारों के साथ घोड़ों की सवारी करते हुए भी देखा गया। इसके बाद, लाल किले के ऊपर चढ़ना और अपने झंडों को फहराना भी देखा गया।

RELATED ARTICLES

आयशा सुल्ताना के खि’ला’फ देश’द्रो’ह का के’स लगा तो bjp नेताओ ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली. लक्षद्वीप में स्थानीय बीजेपी नेता ही फिल्म प्रोड्यूसर और एक्ट्रेस आयशा सुल्ताना (Aisha Sultana) के खि'ला'फ देश'द्रो'ह का माम'ला दर्ज किए जाने...

साकिब उल हसन ने गु’स्से में उखाड़ फेके तीनो स्टम्प

नई दिल्ली. बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब उल हसन अक्सर वि'वा'दों में घिरे रहे हैं. कभी देश के क्रिकेट बोर्ड से ट'क:रा'व को लेकर, तो...

उत्तर प्रदेश महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी का बयान लड़कियां फ़ोन रखती है इस लिए भाग जाती है

उत्तर प्रदेश महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी का बयान काफी चर्चाओं में है. यूपी महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी ने अलीगढ़ में...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

4 भारतीय खिलाड़ी जिन्होंने आज तक नहीं लगाया एल्कोहल को हाथ, नशे से करते हैं तौबा, मु-स्लिम

भारतीय टीम (Indian Team) के ऐसे कई क्रिकेटर हैं, जो स्मोकिंग भी करते हैं और शराब का सेवन भी करते हैं. हार्दिक पांड्या को...

आयशा सुल्ताना के खि’ला’फ देश’द्रो’ह का के’स लगा तो bjp नेताओ ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली. लक्षद्वीप में स्थानीय बीजेपी नेता ही फिल्म प्रोड्यूसर और एक्ट्रेस आयशा सुल्ताना (Aisha Sultana) के खि'ला'फ देश'द्रो'ह का माम'ला दर्ज किए जाने...

साकिब उल हसन ने गु’स्से में उखाड़ फेके तीनो स्टम्प

नई दिल्ली. बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब उल हसन अक्सर वि'वा'दों में घिरे रहे हैं. कभी देश के क्रिकेट बोर्ड से ट'क:रा'व को लेकर, तो...

महिला से पूछा गया सवाल वह कौन सा कार्य है जो सिर्फ रात में ही किया जाता है?

बचपन से ही हर किसी का सपना होता है की वह आईएएस बने लेकिन हर कोई इस सपने को पूरा नहीं कर पाता। कोई...

Recent Comments