कंगना ने ट्विटर पर पूछा ‘दिलजीत कित्थे आ’? पंजाबी स्टार ने दिया पूरा शेड्यूल

India

बॉलीवुड स्टार्स कंगना रनौत और दिलजीत दोसांझ के बीच किसान आंदोलन को लेकर कुछ दिनों पहले ट्विटर पर गर्मागर्म बहस देखने को मिली थी। वो मुद्दा अभी ठंडा हुआ भी नहीं था कि अभिनेत्री ने फिर उन्हें सोशल मीडिया के जरिए निशाना बनाना शुरू कर दिया है और ट्वीट कर पूछ रही हैं कि ‘दिलजीत कित्थे आ’?

शुक्रवार को कंगना ने लगातार कई ट्वीट किए जिसमें उनका बस एक ही सवाल था कि आखिर ‘दिलजीत दोसांझ कहां हैं और क्या कर रहे हैं’। उन्होंने शुरूआत करते हुए पहले लिखा कि पंजाबी सुपरस्टार को ‘किसानों को गुमराह करने के लिए लेफ्ट मीडिया द्वारा सराहा जाएगा’। फिर जब पीएम मोदी ने केंद्रीय कृषि मंत्री की किसान आंदोलन पर की गई प्रेस कॉन्फ़्रेंस के बारे में ट्वीट किया तो कंगना ने दिलजीत से पूछा कि ‘क्या वे देशद्रोहियों की गुड बुक्स में रहने के लिए बिल का विरोध कर रहे हैं?’

फिर कंगना ने किसानों के विरोध प्रदर्शन और इसे हल करने के लिए सरकार की उत्सुकता को लेकर एक पोस्ट पर प्रतिक्रिया व्यक्त की और लिखा, “प्लीज इसे पंजाबी में लोकल क्रांतिकारी दिलजीत दोसांझ को समझाएं। जब मैंने उन्हें समझाने की कोशिश की, तो वह मुझसे खफा हो गए।” फिर क्वीन एक्ट्रेस ने एक हैशटैग को लेकर भी अपनी नाराज़गी जाहिर की जिसमें संकेत मिला था कि जुबानी जंग में दिलजीत कंगना से जीत रहे हैं।

तब कंगना ने ‘चिल्लर पार्टी’ को ‘गाली, परेशान करने, उनका मजाक उड़ाने या उन्हें निशाना बनाने से पहले सोचने’ को कहा। उन्होंने खुद को ‘हर बाप की मां’ बताया और कहा कि ‘ये मामला कोर्ट में होता तो वह ऑफिशली जीत गई होती’। साथ ही ‘#Diljit_Kitthe_aa’ का भी इस्तेमाल किया।  फिर उन्होंने अपने चेन्नई शूट की तस्वीरें शेयर की और दोबारा पूछा कि ‘दिलजीत कहां हैं’?

कंगना द्वारा बार बार निशाना बनाए जाने के बाद आखिरकार गुड न्यूज स्टार ने उन्हें बता ही दिया कि वह कहां हैं। उन्होंने बिना नाम लिए ट्वीट करते हुए अपना शेड्यूल साझा किया और लिखा- ‘सुबह उठ के जिम गया, फिर सारा दिन काम किया, अब मैं सोने लगा हूं। ये लो पढ़ लो मेरा शेड्यूल।’ फिर हैशटैग्स दिए – ‘मेरा शेड्यूल, आजा, आजा।’

वैसे दिलीज के कहने का तातपर्य था कि “प्यारी कंगना, मेरे पास इतना काम है कि मूतने तक की भी फुर्सत भी नहीं है, आप तो बेरोज़गार हो, कोई काम धाम है नहीं, फिर भी मैं आपसे चोंच लड़ाने का टाइम निकाल ही लूंगा. (न्यूज रिपब्लिक भारत से साभार प्रकाशित की गई है अंतिम पैराग्राफ लेखक के विचार हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *