‘अल्लाह’ पर टिप्पणी के कारण कंगना के अकॉउंट पर लगा प्रतिबंध? भक्तो को लगी मिर्च,

360°

कंगना रनौत को लेकर सोशल मीडिया पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है। लिबरल गैंग हाथ धो कर उनके पीछे पड़ी है और वो खुद भी अपने बेबाक रवैये के कारण चुन-चुन कर सबको जवाब दे रही हैं। उनके हालिया ट्वीट में उन्होंने वामपंथियों का उल्लेख करके बाकायदा उनकी क्लास ली। इसमें उन्होंने जिक्र किया कि उनका अकॉउंट सस्पेंड करवाने की कोशिश चल रही है जिसके कारण उसे अस्थायी रूप से प्रतिबंधित कर दिया गया है।

अब व्हॉट्सएप पर कुछ लोगों का दावा है कि वामपंथी कंगना से इसलिए नाराज हैं क्योंकि उन्होंने अल्लाह को लेकर कमेंट किया था। और इसीलिए उनके अकॉउंट पर कार्रवाई हुई। हालाँकि, इस दावे की सच्चाई क्या है यह मैसेज देखने से स्पष्ट नहीं है। अब ऐसे में सवाल है कि क्या वाकई में ट्विटर ने कंगना पर कार्रवाई इसलिए की, क्योंकि उन्होंने ‘अल्लाह’ का नाम लेकर वामपंथियों को ललकारा या फिर इसलिए कि मामला कुछ और है।

ऑपइंडिया ने इस संबंध में ट्विटर पर लिबरलों के रिएक्शन देखने के लिए #SuspendKanganaRanaut ट्रेंड को देखा। इसमें कई जगह कंगना के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग था लेकिन बहुत कम जगह पर उनके ‘अल्लाह’ वाले उस ट्वीट को शेयर किया गया था, जिसमें उन्होंने लिखा था, “माफी माँगने के लिए बचेगा कहाँ? ये सीधा गला का,ट देते हैं, जिहादी देश फतवा निकाल देते हैं, लिबरल मीडिया वर्चुअल लिंचिंग कर देती है, तुम्हें ना सिर्फ़ जा,न से मा,र दिया जाएगा बल्कि उस मौ,त को भी जस्टिफ़ाई किया जाएगा, बोलो अली अब्बास जफर, है हिम्मत अल्लाह का मज़ाक़ उड़ाने की?”


अब हो सकता है कंगना की टिप्पणी पर वामपंथी भड़कें हों लेकिन सेकुलर छवि को बनाए रखने के लिए वह उस ट्वीट को न शेयर कर रहे हों। इस हैशटैग पर स्क्रॉल करते हुए हमें कंगना का एक कॉमन ट्वीट हर जगह दिखा। इस ट्वीट में उन्होंने भगवान कृष्ण और शिशुपाल से जुड़े प्रसंग की चर्चा की थी। कंगना ने इसमें लिखा था, “क्योंकि भग,वान कृष्ण ने भी 99 बार शिशुपाल को माफ किया था। पहले शांति फिर क्रांति। समय आ गया है कि सर का,टे जाएँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *