Home 360° इरफ़ान ने इसलिए आखिरी सांस तक छोटे पर्दे पर काम करने से...

इरफ़ान ने इसलिए आखिरी सांस तक छोटे पर्दे पर काम करने से इंकार कर दिया था। वजह जानकर चौंक जाएंगे।

इरफ़ान , यह बॉलीवुड का वो नाम है जिसे पूरे विश्व में एक शानदार अभिनेता के रूप में जाना जाता है. लेकिन इस नाम और अपने सफल कैरियर को आसमान की ऊंचइयों तक ले जाने में इरफ़ान को कई सालो की कड़ी मेहनत लगी.

बॉलीवुड में कदम रखने से पहले इरफ़ान टेलीविज़न यानी कि छोटे पर्दे पर काम करते थे. इरफ़ान ने एक पत्रकार से बातचीत के दौरान अपने बॉलीवुड में एंट्री से पहले के कुछ किस्से सुनाए. जिसमे उन्होंने बताया कि एक वक़्त ऐसा भी आया कि जब उन्होंने अपनी आखिरी सांस तक छोटे पर्दे पर काम करने से मना कर दिया.

दरअसल जब इरफ़ान छोटे पर्दे पर काम किया करते थे तो उन्हें लगातार दिन रात काम करना पड़ता था. क्यूंकि टीवी इंडस्ट्री इसी तरह से चलती है. दिन रात काम करने से इरफ़ान इतना थक चुके थे कि जब वह एक दिन अपनी कार चलाकर अपने घर का रहे थे तो वह काम की थकान की वजह से अपनी कार के स्टेयरिंग व्हील पर सड़क के बीच में ही सो गए.

आगे इरफ़ान ने बताया कि, ” मैं सुबह का सूरज निकलने तक वहीं कार के स्टेयरिंग व्हील पर ही सोता रहा. मुझे समझ में ही नहीं आया कि आखिर वो हुआ क्या था. फिर जब मै घर गया तो मुझे मेरी पत्नी ने बताया कि मै इतना बौखलाया हुआ था कि मै कई दिनों तक अपने बेडरूम से भी बाहर नहीं निकला था. उस वक़्त मैंने ये फ़ैसला किया कि भविष्य में चाहे जो भी हो, चाहे मुझे फिल्मों में काम मिले या ना मिले, लेकिन मै अब कभी भी दोबारा छोटे पर्दे की ओर वापस नहीं लौटूंगा”

इसके बाद उन्होंने टीवी इंडस्ट्री से दूरियां बना ली और फिल्मों कि तरफ रुख कर लिया. साल 1988 से लेकर साल 1999 तक इरफ़ान ने लगभग 18 फिल्में की जिसमे “सलाम बॉम्बे” “दृष्टी” “हासिल” “यूं होता तो क्या होता” और “मकबूल” जैसी फिल्में शामिल है.

इरफ़ान के दोस्त तिग्मांशु धूलिया की फिल्म “हासिल” ने जहां इरफ़ान के कैरियर को स्पॉटलाइट दी तो वहीं साल 2003 में आयी फिल्म “मकबूल” ने उनकी क़िस्मत ही बदल डाली. खैर, इरफ़ान अब हमारे बीच नहीं है. एक साल पहले उनका बीमारी के चलते आश्चर्य जनक रूप से निधन हो गया था. लेकिन इरफ़ान के शानदार अभिनय से जगमगाता बॉलीवुड और हम हमेशा उन्हें एक हसीन ख्वाब की तरह अपनी यादों में ज़िंदा रखेंगे.

RELATED ARTICLES

ज़ाहिद कुरैशी अमेरिकी जज बनने वाले पहले मुस्लिम

अमेरिकी सीनेट (उच्च सदन) ने पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी नागरिक जाहिद कुरैशी के न्यूजर्सी में डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में नामांकन को मंजूरी दे दी है।...

आयशा सुल्ताना के खि’ला’फ देश’द्रो’ह का के’स लगा तो bjp नेताओ ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली. लक्षद्वीप में स्थानीय बीजेपी नेता ही फिल्म प्रोड्यूसर और एक्ट्रेस आयशा सुल्ताना (Aisha Sultana) के खि'ला'फ देश'द्रो'ह का माम'ला दर्ज किए जाने...

साकिब उल हसन ने गु’स्से में उखाड़ फेके तीनो स्टम्प

नई दिल्ली. बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब उल हसन अक्सर वि'वा'दों में घिरे रहे हैं. कभी देश के क्रिकेट बोर्ड से ट'क:रा'व को लेकर, तो...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

ज़ाहिद कुरैशी अमेरिकी जज बनने वाले पहले मुस्लिम

अमेरिकी सीनेट (उच्च सदन) ने पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी नागरिक जाहिद कुरैशी के न्यूजर्सी में डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में नामांकन को मंजूरी दे दी है।...

4 भारतीय खिलाड़ी जिन्होंने आज तक नहीं लगाया एल्को’हल को हाथ, न’शे से करते हैं तौबा

भारतीय टीम (Indian Team) के ऐसे कई क्रिकेटर हैं, जो स्मो किंग भी करते हैं और राब का सेवन भी करते हैं. हार्दिक पांड्या...

आयशा सुल्ताना के खि’ला’फ देश’द्रो’ह का के’स लगा तो bjp नेताओ ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली. लक्षद्वीप में स्थानीय बीजेपी नेता ही फिल्म प्रोड्यूसर और एक्ट्रेस आयशा सुल्ताना (Aisha Sultana) के खि'ला'फ देश'द्रो'ह का माम'ला दर्ज किए जाने...

साकिब उल हसन ने गु’स्से में उखाड़ फेके तीनो स्टम्प

नई दिल्ली. बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब उल हसन अक्सर वि'वा'दों में घिरे रहे हैं. कभी देश के क्रिकेट बोर्ड से ट'क:रा'व को लेकर, तो...

Recent Comments