इमरान प्रतापगढ़ी औए कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद पहुँचे आज़म खान के घर, कही बड़ी बात, समाजवादी छोड़ –

India

रामपुर। कांग्रेस नेता और मशहूर शायर इमरान प्रतापगढ़ी ने कहा है कि आजम खां के साथ सरकार द्वारा की गई नाइंसाफी के खिलाफ देशभर में आवाज उठाई जानी चाहिए। वो दलगत राजनीति से हटकर आजम खां और उनके परिवार के साथ हैं। उन्होंने शिक्षाविदों से जौहर यूनिवर्सिटी को बचाने के लिए आगे आने का आह्वान किया। इमरान बुधवार को मध्य प्रदेश के कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद के साथ रामपुर आए थे।

उन्होंने सांसद आजम खां के घर जाकर उनकी पत्नी विधायक डॉ. तजीन फात्मा से मुलाकात की। उन्होंने तजीन फात्मा से पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली और सरकार द्वारा की गई नाइंसाफी पर अफसोस जाहिर किया। उन्होंने कहा कि डॉ. फात्मा की दास्तां सुनकर कोई भी अपने आंसू नहीं रोक सकता है। उनके साथ इतना जुल्म हुआ है।

प्रतापगढ़ी ने कहा कि दलगत राजनीति से हटकर वो चाहते हैं कि देश भर में आजम खां, उनके परिवार और जौहर यूनिवर्सिटी को बचाने के लिए मुहिम शुरू हो। शिक्षाविद् भी इस मुहिम में शामिल हों। मध्य प्रदेश के विधायक आरिफ मसूद ने कहा कि आजम खां के साथ हमलोगों को बहुत पहले खड़ा होना चाहिए था।

आजम खां गरीबों और मजलूमों की आवाज हैं, उनकी आवाज को दबाने के लिए उनके परिवार और यूनिवर्सिटी को निशाना बनाया जा रहा है। भाजपा सरकार अपने खिलाफ उठने वाली हर आवाज को दबाना चाहती है। मसूद ने कहा कि जरूरत पड़ने पर वो सीतापुर की जेल जाकर आजम खां से भी मुलाकात करेंगे। उन्होंने कहा है कि आजम खां के मुद्दे पर अगर कांग्रेस कोई कदम उठाएगी तो यह अच्छा रहेगा। बाद में दोनों जौहर यूनिवर्सिटी गए।

विधायक आरिफ मसूद भोपाल में हमेशा ही मज़लूमो कि आवाज़ बने है और अपनी ही सरकार को मुखर होकर जवाब दिया है जिस से वह अपने पार्टी के साथ साथ विरोधी पार्टी के भी आँखो की किरकिरी बने रहते हैं । उन्होंने सत्ता में होते हुए भी कई बार अपने ही सत्ता के ख़िलाफ़ आंदोलन किया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *