कश्मीर-कश्मीर चि,ल्ला रहे इमरान खान की धम,की, अल्ला,ह के नाम पर बना पाकिस्तान, हम भारत से नहीं

World

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कश्मीर के नाम पर नया प्रॉपगैंडा खड़ा करने के लिए पाक अधिकृत कश्मीर के कोटली में एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने न केवल भारत के खिलाफ जमकर जहर उगला, बल्कि कश्मीरियों के खिलाफ दिखावे के समर्थन का भी इजहार किया।पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कश्मीर के नाम पर नया प्रॉपगैंडा खड़ा करने के लिए पाक अधिकृत कश्मीर के कोटली में एक जनसभा को संबोधित किया।

इस दौरान उन्होंने न केवल भारत के खिलाफ जमकर जहर उगला, बल्कि कश्मीरियों के खिलाफ दिखावे के समर्थन का भी इजहार किया। इतना ही नहीं, इमरान खान ने यहां तक कहा कि अगर भारत संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का पालन करता है तो वह कश्मीरियों को उनके स्वयं के भाग्य का फैसला करने का अधिकार भी देगा।

इमरान खान ने कहा कि मैं आज यूनाइटेड नेशन्स को याद करना चाहता हूं कि आपने अपना हक और वादा पूरा नहीं किया। जब भी कश्मीरियों को उनका हक मिलेगा, जब कश्मीरी अपनी किस्मत का फैसला करेंगे और कश्मीर के लोग जब पाकिस्तान के हक में फैसला करेंगे। तब पाकिस्तान कश्मीर के लोगों को अपनी पसंद चुनने का हक देगा। जिसमें वे फैसला करेंगे कि वे आजाद रहना चाहते हैं कि पाकिस्तान के साथ रहना चाहते हैं।

इमरान खान ने कोटली में इस्लाम के नाम पर भी पाकिस्तानी अवाम को गुमराह करने का भरपूर प्रयास किया। उन्होंने कहा कि हम भारत से बातचीत करने के लिए तैयार हैं। लेकिन इसे हमारी कमजोरी न समझें। शायद भारत ने पिछली बार इसे समझा था कि हम किसी कमजोरी के आलम में दोस्ती करना चाहते हैं। ये मुल्क पाकिस्तान उन लोगों का है जो ला इलाह इलल्लाह के कलमे के ऊपर बना था। अल्लाह के सिवाय किसी के सामने ये झुकने वाले लोग नहीं हैं। ना किसी का कोई खौफ है ना ही हो सकता है। पूरी मुसलमान दुनिया आपके साथ खड़ी है।

इमरान इतने पर ही नहीं रुके। उन्होंने यहां तक कहा कि जो लोग एक अल्लाह की गुलामी करते हैं, वे किसी और की गुलामी नहीं कर सकते हैं। इसलिए कभी यह न समझना कि जब हम आपसे (भारत) कहते हैं कि हम दोस्ती करेंगे तो हमें किसी का खौफ या डर है। हम चाहते हैं कि कश्मीरी लोगों को उनका हक मिले, यह जुल्म खत्म हो, कश्मीरी भी अपनी जिंदगी का खुद फैसला करें। ये उनका मानवाधिकार है और लोकतांत्रिक अधिकार भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *