सॉफ्टवेयर डेवलपर इफ्तेखार रहमानी ने रचा इतिहास, चांद पर जमीन लेकर कही ये बड़ी बात, हो रही तारीफ

Education

अपनी प्रतिभा के बल पर दुनियाभर में नाम कमाने वालों में बेनीपुर नगर परिषद क्षेत्र के वार्ड सात के निवासी सॉफ्टवेयर डेवलपर इफ्तेखार रहमानी भी शामिल हो गए हैं। अमेरिकी कंपनी लुनार सोसायटी इंटरनेशनल ने उन्हें बेहतर प्रदर्शन पर चांद पर एक एकड़ जमीन उपहारस्वरूप दी है। मंगलवार को यह सूचना मिलते ही क्षेत्र में खुशी की लहर दौड़ गयी। बड़ी संख्या में लोग उन्हें फोन कर बधाई दे रहे हैं।

इफ्तेखार रहमानी रजिस्ट्री ऑफिस के कातिब स्व. फखरे आलम व गृहिणी नाजरा बेगम के सुपुत्र हैं। फखरे आलम का निधन वर्ष 2014 में हुआ था। इफ्तेखार की उच्च माध्यमिक तक की शिक्षा बहेड़ा से ही पूरी हुई है। उदयपुर से की बीटेक की पढ़ाई : मंगलवार को फोन पर उन्होंने बताया कि उन्होंने बीटेक की पढ़ाई एसएस कॉलेज, उदयपुर से की है। वे छह भाई-बहन हैं। इफ्तेखार के घर की माली हालत अभी भी बहुत अच्छी नहीं है। उनकी मां, बहन भाई पुराने खपरैल के घर में रहते हैं।

लेकिन, चांद पर जमीन मिलने के बाद इफ्तेखार को अब पूरी दुनिया के लोग जान सकेंगे। इफ्तेखार की मां नाजरा बेगम ने खुशी का इजहार करते हुए कहा कि मुझे इस बात का गर्व है कि मेरा बेटा कामयाबी की बुलंदियों को छू रहा है। यह खबर मिलने से मेरे परिवार के लोग काफी खुश हैं। मेरे पुत्र ने कड़ी परिश्रम कर यह सफलता अर्जित की है। वहीं, इफ्तेखार ने फोन पर कहा कि मैं लुनार सोसाइटी इंटरनेशनल के लिए सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट का काम करता हूं। कंपनी से मेरा अनुबंध साढ़े तीन माह पूर्व ही हुआ है।

मैंने इस कंपनी के पुराने सॉफ्टवेयर को अपडेट कर और बेहतर किया। इससे खुश होकर कंपनी ने मुझे चांद पर एक एकड़ जमीन दी है। इसकी कागजी प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। उन्होंने कहा कि मैं चांद पर अपनी जमीन देखने चार-पांच साल बाद जाऊंगा। उसके बाद योजना बनाऊंगा कि उस जमीन पर क्या करना है। इफ्तेखार ने बताया कि मैं नोएडा में एक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट कंपनी भी चलाता हूं। इस कंपनी की स्थापना 2019 में हुई थी। वे नोएडा से ही लुनार सोसायटी इंटरनेशनल के लिए काम करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *