Home Education सॉफ्टवेयर डेवलपर इफ्तेखार रहमानी ने रचा इतिहास, चांद पर जमीन लेकर कही...

सॉफ्टवेयर डेवलपर इफ्तेखार रहमानी ने रचा इतिहास, चांद पर जमीन लेकर कही ये बड़ी बात, हो रही तारीफ

अपनी प्रतिभा के बल पर दुनियाभर में नाम कमाने वालों में बेनीपुर नगर परिषद क्षेत्र के वार्ड सात के निवासी सॉफ्टवेयर डेवलपर इफ्तेखार रहमानी भी शामिल हो गए हैं। अमेरिकी कंपनी लुनार सोसायटी इंटरनेशनल ने उन्हें बेहतर प्रदर्शन पर चांद पर एक एकड़ जमीन उपहारस्वरूप दी है। मंगलवार को यह सूचना मिलते ही क्षेत्र में खुशी की लहर दौड़ गयी। बड़ी संख्या में लोग उन्हें फोन कर बधाई दे रहे हैं।

इफ्तेखार रहमानी रजिस्ट्री ऑफिस के कातिब स्व. फखरे आलम व गृहिणी नाजरा बेगम के सुपुत्र हैं। फखरे आलम का निधन वर्ष 2014 में हुआ था। इफ्तेखार की उच्च माध्यमिक तक की शिक्षा बहेड़ा से ही पूरी हुई है। उदयपुर से की बीटेक की पढ़ाई : मंगलवार को फोन पर उन्होंने बताया कि उन्होंने बीटेक की पढ़ाई एसएस कॉलेज, उदयपुर से की है। वे छह भाई-बहन हैं। इफ्तेखार के घर की माली हालत अभी भी बहुत अच्छी नहीं है। उनकी मां, बहन भाई पुराने खपरैल के घर में रहते हैं।

लेकिन, चांद पर जमीन मिलने के बाद इफ्तेखार को अब पूरी दुनिया के लोग जान सकेंगे। इफ्तेखार की मां नाजरा बेगम ने खुशी का इजहार करते हुए कहा कि मुझे इस बात का गर्व है कि मेरा बेटा कामयाबी की बुलंदियों को छू रहा है। यह खबर मिलने से मेरे परिवार के लोग काफी खुश हैं। मेरे पुत्र ने कड़ी परिश्रम कर यह सफलता अर्जित की है। वहीं, इफ्तेखार ने फोन पर कहा कि मैं लुनार सोसाइटी इंटरनेशनल के लिए सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट का काम करता हूं। कंपनी से मेरा अनुबंध साढ़े तीन माह पूर्व ही हुआ है।

मैंने इस कंपनी के पुराने सॉफ्टवेयर को अपडेट कर और बेहतर किया। इससे खुश होकर कंपनी ने मुझे चांद पर एक एकड़ जमीन दी है। इसकी कागजी प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। उन्होंने कहा कि मैं चांद पर अपनी जमीन देखने चार-पांच साल बाद जाऊंगा। उसके बाद योजना बनाऊंगा कि उस जमीन पर क्या करना है। इफ्तेखार ने बताया कि मैं नोएडा में एक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट कंपनी भी चलाता हूं। इस कंपनी की स्थापना 2019 में हुई थी। वे नोएडा से ही लुनार सोसायटी इंटरनेशनल के लिए काम करते हैं।

RELATED ARTICLES

Interview Question : वह कौन सी चीज़ है जो खेत में पैदा हो तो हर कोई खाता है, मगर घर में पैदा हो तो...

देश भर में जितने भी छोटे से बड़े प्रतियोगिता परीक्षा होते है, उन सभी में जनरल नॉलेज (General Knowledge) विषय से जुड़े प्रश्न अवश्य...

ये क्या बदतमीज़ी है! इन 20 तस्वीरों में खाने की चीज़ें दिख रही हैं, लेकिन ये कुछ और हैं

जब भूख लगी हो, तब दिमाग़ काम करना बंद कर देता है, इसलिए कहा गया है पहले पेट पूजा फिर काम दूजा. पेट खाली...

Interview Question : वह कौन सी सब्जी है जिसमे एक देश, एक जिला और एक भाषा छिपी होती है ?

आज के समय में हमारे देश के ज़्यादा तर युवा का सपना आईएएस और आईपीएस अधिकारी बनने का होता है। जिसके लिए वह कड़ी...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पार्लियामेंट में आज़म खान को लेकर अखिलेश यादव ने लिया बड़ा फ़ैसला

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के वरिष्ठ नेता आजम खान (Azam Khan) को दोबारा तबीयत खराब होने पर सोमवार शाम राजधानी के एक निजी अस्पताल...

पति Raj Kundra की तरह Shilpa Shetty भी रही हैं कई विवादों में, ये हैं सबसे बड़े मामले

राज कुंद्रा के अरेस्ट के बाद से ही एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी सुर्खियों में है वैसे बता दे की उनके पति राज पर आरोप हैं...

Interview Question : वह कौन सी चीज़ है जो खेत में पैदा हो तो हर कोई खाता है, मगर घर में पैदा हो तो...

देश भर में जितने भी छोटे से बड़े प्रतियोगिता परीक्षा होते है, उन सभी में जनरल नॉलेज (General Knowledge) विषय से जुड़े प्रश्न अवश्य...

हेदाया वहबा ने रियो 2016 में भी कांस मैडल हासिल किया था अब 2021टोकियो में मैडल मिला

टोक्यो ओलंपिक में मेडल जीतने वाले पहली मुस्लिम खातून और मिस्र के लिए भी मैडल जीतने वाली पहली ख़ातून हैं हेदाया वहबा। हेदाया वहबा ने...

Recent Comments