गु,लाम नबी आ,जाद के फोन का जिक्र करके ‘रो’ पड़े पीएम मोदी,जानिए वजह

India

राज्‍यसभा में कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद रिटायर हो रहे हैं। उनकी रिटायरमेंट के मौके पर बोलते-बोलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रो पड़े। मोदी जब गुजरात के मुख्‍यमंत्री थे, उस वक्‍त जम्‍मू-कश्‍मीर में गुजरात के यात्रियों पर आतं,की हम,ला हुआ था। मोदी ने उस वक्‍त का जिक्र करते हुए कहा कि उनके पास सबसे पहला फोन गुलाम नबी आजाद का आया।

मोदी ने रूंधे गले से वह किस्‍सा सुनाया कि कैसे आजाद को गुजरात के लोगों की वैसी चिंता थी जैसी कोई अपने परिवार के लिए करता है।एक बार गुजरात के यात्रियों पर आतं,कियों ने हम,ला कर दिया। आठ लोग मारे गए। सबसे पहले मुझे गुलाम नबी जी का फोन आया। और वह फोन,सिर्फ सूचना देने का नहीं था,(गला रुंध गया) उनके आंसू रुक नहीं रहे थे।

फोन पे उस समय प्रणव मुखर्जी साहब डिफेंस मिनिस्टर थे मैंने फोन किया कि साहब अगर फोर्स का हवाई जहाज मिल जाए डेड बॉडी को लाने के लिए। रात देर हो गई थी,प्रणव मुखर्जी ने कहा कि आप चिंता न करें,लेकिन रात में फिर गुलाम नबी जी का फोन आया। वह एयरपोर्ट पर थे,(सुबकते हुए) उन्होंने मुझे फोन किया.जैसे अपने परिवार के सदस्य की चिंता करें, वैसी चिंता,(वाक्य पूरा नहीं कर पाए मोदी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,।

पीएम मोदी ने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद की तारीफ करते हुए कहा कि ‘मुझे चिंता इस बात की है कि गुलाम नबी जी के बाद इस पद को जो संभालेंगे, उनको गुलाम नबी जी से मैच करने में बहुत दिक्‍कत पड़ेगी। क्‍योंकि गुलाम नबी जी अपने दल की चिंता करते थे लेकिन देश की और सदन की भी उतनी ही चिंता करते थे।

पीएम मोदी ने गुलाम नबी आजाद को संसद और देश के लिए किए गए योगदान की खातिर सैल्यूट किया। सभी सदस्‍यों ने मेजें थपथपाकर पीएम मोदी का साथ दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *