क्रिकेट के पांच बड़े रिकॉर्ड ,जो सायद कभी नही टूट सकते, एक मुस्लिम का नाम भी शामिल

Sports

किसी एक ही टीम के विरुद्ध लगातार रन बनाना और शानदार प्रदर्शन करना उतना आसान नहीं होता है, क्योंकि जब आप किसी एक विपक्षी टीम के खिलाफ हर बार उम्दा खेल खेलते हैं तो वह टीम आपके विरुद्ध हमेशा एक खास रणनीति के तहत आते हैं और आप पर दबाव बनाने की कोशिश करते हैं. मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने श्रीलंका के खिलाफ 80 वनडे पारियां खेली हैं , जिसमें उन्होंने 43.84 की औसत से 3113 रन बनाए हैं.

इन पारियों में सचिन ने 8 शतक और 117 अर्धशतक जड़े हैं. ये अब तक एक रिकॉर्ड बना हुआ है , जो किसी किसी खिलाड़ी ने किसी विशेष टीम के खिलाफ इतने रन जड़े हों. इसके अलावा सचिन तेंदुलकर ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी 9 शतक के साथ 3000 से ज्यादा रन स्कोर किए हैं.क्रिकेट के मैदान में अम्पायरों का अपना अलग ही महत्व होता है. बिना उनके क्रिकेट के नियमों को ठीक से लागू नहीं किया जा सकता. सही तरह से क्रिकेट का होना और मैदान पर हर एक पहलु पर नजर रखना , मैदान पर अंपायर के यही काम हैं.

इसलिए क्रिकेट की दुनिया में अम्पायरों के नाम भी कुछ रिकॉर्ड दर्ज हैं, जिनका टूटना मुश्किल जान पड़ता है. आपको बता दें क्रिकेट जगत में कुछ ऐसे अम्पायर्स हैं, जो सफल रीति से लम्बे समय तक अम्पायरिंग करते नजर आए.और टेस्ट मैच जो कि 5 दिनों तक चलता है तो अम्पायरों का काम और ज्यादा चुनौतीपूर्ण हो जाता है. यदि टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा अम्पायरिंग की बात की जाए तो सबसे ऊपर पाकिस्तान के अलीम डार हैं,।

जिन्होंने 2003 से 2021 तक 136 टेस्ट मैचों में अम्पायरिंग की है, उसके बाद दूसरे नंबर पर वेस्टइंडीज के स्टीव बकनर का नाम आता है. बकनर ने 1989 से 2009 के बीच यानी 20 सालों तक अम्पायरिंग करते हुए 128 टेस्ट मैच में अपना योगदान दिया है. तीसरे नंबर पर साउथ अफ्रीकी रूडी कर्टजन हैं जिन्होंने साल 1992 से 2010 के बीच 108 टेस्ट मैचों में अम्पायरिंग किया है.

आपको बताते चले कि नम्बर तीन पर सचिन तेंदुलकर के नाम पर सबसे ज्यादा शतक शामिल है ,नम्बर चार पर ग्लेन मैगरा के नाम सबसे ज्यादा तेज गेंदबाजी में विकेट है और नम्बर पांच पर लगातार टेस्ट मैच खेलने का रिकॉर्ड है जिनका नाम है एलिस्टर कुक है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *