इज़’राइल में खुदाई में मिली दुनियां की सबसे पुरानी म’स्जिद, फ़ोटो हुए वायरल

360°

इज़ राइल में पुरातत्व विभाग की एक टीम ने गलील सागर के तट पर दुनिया की सबसे पुरानी म’स्जिदों में से एक की खोज की है। अरब न्यू’ज़ के अनुसार, मस्जि’द के अवशेष एक बीजान्टिन-युग की इमारत के अवशेषों के नीचे पाए गए थे। म स्जिद का निर्माण 635 में इस्ला म के पैगं’बर के एक साथी द्वारा किया गया हो सकता है, जो सातवीं शताब्दी में सीरियाई क्षेत्रों को जीतने वाली मु स्लिम सेना के कमां’डर थे।

यह म स्जिद उत्तरी इजरा यल के शहर तिबेरियास के बाहरी इलाके में स्थित है। पिछले सप्ताह एक शैक्षणिक सम्मेलन में इस खोज की घोषणा की गई थी। जेरूसलम के हिब्रू विश्ववि’द्यालय के कटिया सिट्रीन सिल्वरमैन के नेतृत्व में एक टीम ने 11 साल तक इस स्थल की खुदाई की।

सा’इट पर पहली खुदाई 1950 में की गई थी जब एक स्तंभ संरचना की खोज की गई थी, जिसे बीजान्टिन बाजार के रूप में पहचाना गया था। हालाँकि, शुरुआती इस् लामी सिक्कों और मिट्टी के बर्तनों के टुकड़ों को बाद में यहां खोजा गया था। पुरातत्व विभाग ने पहली बार आठवीं शताब्दी की म स्जि द के रूप में अवशेषों की पहचान की, लेकिन आगे की खुदाई से पता चला कि संरचना एक सदी पुरानी थी।

इज रायली विशे’षज्ञों का मानना ​​है कि यह म स्जिद कई शताब्दियों पहले बनाई गई थी और संभवतः इस क्षेत्र पर विजय प्राप्त करने वाले सेना के कमां’डर शरबेल बिन ह सन द्वारा बनाई गई थी। डॉ कटिया सिट्रिन कहती हैं, हम निश्चितता के साथ यह नहीं कह सकते कि यह शरबत इब्न हसन द्वारा बनाया गया था, लेकिन हमारे पास ऐतिहा’सिक प्रमाण हैं कि उन्होंने 635 में तिबरियास पर विजय के बाद इसे बनाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *