Home Education फ़िरोज़ आलम 10 साल रहे कॉस्टेबल किस्मत पलटी दिल्ली पुलिस में बने...

फ़िरोज़ आलम 10 साल रहे कॉस्टेबल किस्मत पलटी दिल्ली पुलिस में बने ACP

फिल्मों में कई बार ऐसी कहानियां देखने को मिलती हैं कि किसी विभाग में छोटे से पद पर काम करने वाला कर्मचारी उसी विभाग में अफसर बन गया। फिरोज आलम ने असल जिंदगी में भी यह कर दिखाया है। 10 साल तक दिल्ली पुलिस में वह सबसे निचली रैंक पर काम करते रहे और अब अफसर बन गए हैं।

दिल्ली पुलिस के एसीपी फिरोज आलम, कभी कॉन्स्टेबल फिरोज आलम के नाम से पहचाने जाते थे। 10 साल की नौकरी के दौरान अपनी कड़ी मेहनत से उन्होंने पिछले साल यूपीएससी की परीक्षा को पास कर लिया। उन्हें अपना पसंदीदा दानिप्स काडर भी मिल गया, जिसके बाद वह दिल्ली पुलिस में ही एसीपी बन गए हैं। वह पूरी मेहनत और लगन के साथ ट्रेनिंग लेने में जुट गए हैं।

एनबीटी से बातचीत में फिरोज ने बताया कि दिल्ली के झड़ौदा इलाके में स्थित पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज में 1 अप्रैल से उनकी ट्रेनिंग शुरू हो गई है। यह अगले साल मार्च तक चलेगी। फिर उन्हें फील्ड ट्रेनिंग के लिए भेजा जाएगा और उसके बाद बतौर एसीपी फाइनल पोस्टिंग मिलेगी। हालांकि दानिप्स काडर में चुने जाने के साथ ही एसीपी रैंक पर उनकी नियुक्ति भी पक्की हो गई है। फिरोज ने बताया कि यूपीएससी देने वाले सभी प्रतिभागियों की तरह उनकी भी पहली चॉइस आईएएस और आईपीएस ही थी। उसके बाद आईआरएस और फिर दानिप्स सर्विसेज को प्राथमिकता दी थी। उनकी रैंकिंग के आधार पर उन्हें दानिप्स काडर मिल गई।

उनका कहना है कि मेरे लिए यह किसी सपने के सच होने जैसा है। मैं 10-11 साल से दिल्ली पुलिस में काम कर रहा था और इसीलिए मैंने दानिप्स सर्विसेज को भी अपनी प्राथमिकता में शामिल किया हुआ था। फिरोज का कहना है कि दिल्ली पुलिस का जो वर्क कल्चर है, उसे बहुत करीब से देखा है, इसलिए यहां काम करके मुझे कुछ भी अलग महसूस नहीं होगा। जहां तक मेरे साथ काम करने वालों का सवाल है, तो हमारी दोस्ती हमेशा की तरह बनी रहेगी। हां, ड्यूटी के दौरान हम लोग जरूर अनुशासन का विशेष ध्यान रखेंगे।

मूल रूप से यूपी के हापुड़ जिले के गांव आजमपुर दहपा के रहने वाले फिरोज पूर्वी दिल्ली के पांडव नगर थाने में तैनात इंस्पेक्टर (इन्वेस्टिगेशन) मनीष कुमार यादव को अपना आदर्श मानते हैं। फिरोज के मुताबिक, मनीष की कार्यशैली, उनके नॉलेज का स्तर, उनका पॉजिटिव एप्रोच, हर केस की बारीकियों को परखने की उनकी नजर और व्यवहारिक नजरिया बहुत पसंद है। उनकी सलाह हमेशा काम आई।यह खबर nbt से ली गयी है

RELATED ARTICLES

सवाल यदि कोई 18 साल की लड़की ढीले-ढाले कपड़े पहन आपके आगे झुक के प्रणाम करे तो सबसे पहले आपको क्या दिखेगा?

आपको बताते चलें कि देश के अधिकांश युवा वर्ग आज आईएएस आईपीएस की तैयारियों में जुटा हुआ है लेकिन आईएएस आईपीएस अधिकारी बनना इतना...

महिला से पूछा गया सवाल वह कौन सा कार्य है जो सिर्फ रात में ही किया जाता है?

बचपन से ही हर किसी का सपना होता है की वह आईएएस बने लेकिन हर कोई इस सपने को पूरा नहीं कर पाता। कोई...

इंटरव्यू सवाल – शरीर का वो कौन सा अंग होता है जहाँ कभी पसीना नहीं आता ?

हमारे देश के अधिकतर नवजवान आईएएस अधिकारी बनने का सपना देखते है और आईएएस की परीक्षा हमारे देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

वैज्ञनिकों के अनुसार ये है दुनिया की सबसे सुंदर महिला, देखें कैली ब्रुक की विशेष तस्वीरें

एक वैज्ञानिक सर्वेक्षण में यह निष्कर्ष निकाला गया है कि केली ब्रुक का चेहरा और शरीर दुनिया में सबसे सुंदर है. वह ना ही...

गार्ड चाहिए, सैलरी 30000 , रहना खाना। फोटो दबाकर नम्बर लें

Bisleri कंपनी में भर्ती मिल रहा है बढ़िए मौका सैलरी 35000कोई भी अप्लाई कर सकता है अप्लाई करने के लिए सबसे नीचे जाइये पति भगवान्...

सवाल यदि कोई 18 साल की लड़की ढीले-ढाले कपड़े पहन आपके आगे झुक के प्रणाम करे तो सबसे पहले आपको क्या दिखेगा?

आपको बताते चलें कि देश के अधिकांश युवा वर्ग आज आईएएस आईपीएस की तैयारियों में जुटा हुआ है लेकिन आईएएस आईपीएस अधिकारी बनना इतना...

ज़ाहिद कुरैशी अमेरिकी जज बनने वाले पहले मुस्लिम

अमेरिकी सीनेट (उच्च सदन) ने पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी नागरिक जाहिद कुरैशी के न्यूजर्सी में डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में नामांकन को मंजूरी दे दी है।...

Recent Comments