एरदोगान की पर्सनल तस्वीरें हुई वायरल, गज़ब हो गया –

360°

तुर्की राष्ट्रपति रजब तय्यब एर्दोगान ने यूरोप की सबसे बड़ी म स्जिद का उद्घाटन किया है। आपको बता दें की यह म’स्जिद तुर्की इस्ला’मिक ग्रुप के सहयोग से जर्मनी में बनाई गयी है। एर्दोगान ने यह उद्घाटन अपने जर्मन दौरे के दौरान किया। इस मस्जि’द को फूल की कली की तरह बनाया है और यह दिखने में एक दम फूल की कली जैसी लगती है।

एर्दोगान इस वक़्त जंहा जा रहे है अपनी पहचान छोड़ जा रहे हैं । तुर्की एर्दोगान के साथ एक इस्ला’मिक ताक़त के रूप में अपनी पहचान दुनिया भर में जमा रहा है । एर्दोगान की धाक इस वक़्त हर देश में चल रही है । वो इस्ला’मिक शांति के रूप में भी देखे जा रहे है वही कुछ लोग उन्हें ख़लीफ़ा के तौर पर देख रहे हैं ।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने कहा कि कोलोन में म’स्जिद शांति के प्रतीक के रूप में बनाई गयी है और विरोध प्रदर्शन के बावजूद इसके निर्माण के साथ आगे बढ़ने के लिए जर्मन सरकार का शुक्रिया अदा किया। एर्दोगान की कोलोन यात्रा के लिए एक प्रमुख पुलिस अभियान स्थापित किया गया था।

जिसमें एक बड़ा तुर्की समुदाय है। वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया को मिली जानकारी के मुताबिक, जर्मनी की तीन दिवसीय यात्रा काफी विवादास्पद रही है, राष्ट्रपति ने अपने मेजबानों की आलोचना करते हुए टिप्पणी की है।

जर्मनी 3 मिलियन-मजबूत तुर्की डायस्पोरा का घर है। एर्दोगान के दोनों समर्थकों और विरोधियों ने शनिवार को कोलोन में सभाएं आयोजित कीं। लेकिन म’स्जिद के बाहर 25,000 लोगों को इकट्ठा करने की योजना को शहर के अधिकारियों ने सुरक्षा भय से रद्द कर दिया था। कोलोन का केंद्रीय म’स्जिद एक इस्ला’मी धार्मिक समूह द्वारा तुर्की राज्य के करीबी संबंधों के साथ बनाई गयी है।

इस से पहले भी कर चुके है एक म’स्जिद का उद्घाटन – इमाम सरखसी 11 वीं शताब्दी में रहने वाले एक प्रसिद्ध इस्ला’मी विद्वान के नाम पर आधिकारिक तौर पर किर्गिज राजधानी बिश्केक में रविवार को मस्जि द का उद्घाटन किया गया. तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान ने इस म’स्जिद का उदघाटन किया. तुर्की के राज्य संचालित प्रेसीडेंसी ऑफ रिलिजनियस अफेयर्स (डीआईबी) से जुड़ी नींव के आधार पर, मस्जि द 30,000 लोगों को समायोजित करने की क्षमता के साथ मध्य एशिया में सबसे बड़ी म’स्जिद है.

राष्ट्रपति रेसेप तय्यिप एर्दोगान, जो देश की आधिकारिक यात्रा पर हैं, उद्घाटन में अपने किरगिज़ समकक्ष सोरोनबे जैनबेकोव के साथ शिरकत की. म स्जिद तुर्की की राजधानी अंकारा में शानदार कोतेपेप म स्जिद जैसा दिखती है और इसके डिजाइन में तुर्की-इस्ला’मी और तुर्क आदर्शों को दिखाता है. मस्जि’द के लिए निर्माण किर्गिज धार्मिक प्राधिकरण के स्वामित्व वाले 35 एकड़ जमीन पर 2012 में शुरू हुआ था.

आपको बता दें की, मध्य एशियाई राष्ट्र की राजधानी के लिए एक नया स्थलचिह्न, मस्जिद में 7,500 वर्ग मीटर की बंद जगह है जो 9,000 लोगों को एक ही समय में नमाज़ पढ़ सकते है. खुले और बंद दोनों जगहों पर, मस्जिद में एक बार में 30,000 लोग  इबादत कर सकते है.

इबादत क्षेत्रों के साथ, मस्जिद में एक बड़ा पार्किंग स्थल, कक्षाएं, इस्लामी अध्ययन के लिए एक सम्मेलन कक्ष और एक भोजन कक्ष है. मस्जिद में 68 मीटर्स की ऊंचाई और प्रत्येक मीनार पर तीन बालकनी की ऊंचाई के साथ चार मीनार हैं. दो विशाल झूमर मस्जिद के गुंबदों से लटके हैं जिन्हें तुर्क हस्तशिल्प से सजाया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *