Home 360° देश की पहली मुस्लिम महिला राष्ट्रपति बनकर रचा इतिहास,हिज़ाब बांध हाथ मे...

देश की पहली मुस्लिम महिला राष्ट्रपति बनकर रचा इतिहास,हिज़ाब बांध हाथ मे क़ुरान लेकर ली शपथ

सामिया सुलुहू हसन (61) ने शुक्रवार को इतिहास रचकर तंजानिया की पहली महिला राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली। उन्होंने देश के सबसे बड़े शहर दार-उस-सलाम में स्टेट हाउस के सरकारी कार्यालय में राष्ट्रपति पद की शपथ ग्रहण की।

हिजाब पहनकर और अपने दाएं हाथ में कुरान पकड़े हसन ने पद की शपथ ली। इस शपथ ग्रहण समारोह में पूर्वी अफ्रीकी देश के मुख्य न्यायाधीश और मंत्रिमंडल के सदस्य शामिल हुए।

तंजानिया के पूर्व राष्ट्रपति अली हसन मिन्यी, जकाया किकवेते और आबिद करुमे भी इस मौके पर मौजूद रहे। शपथ लेने के बाद हसन ने सैन्य परेड का निरीक्षण किया।

तंजानिया के पूर्व राष्ट्रपति अली हसन मिन्यी, जकाया किकवेते और आबिद करुमे तथा मंत्रिमंडल के सदस्य भी इस मौके पर मौजूद रहे।

शपथ लेने के बाद हसन ने सैन्य परेड का निरीक्षण किया। हसन ने शपथ लेने से दो दिन पहले तत्कालीन राष्ट्रपति जॉन मगुफुली के निधन की घोषणा की थी। मगुफुली को दो हफ्ते से अधिक समय से सार्वजनिक रूप से नहीं देखा गया था।

मगुफुली ने तंजानिया में कोविड-19 फैलने की बात को खारिज करते हुए कहा था कि राष्ट्रीय प्रार्थना ने इस बीमारी का देश से खात्मा कर दिया है।

हालांकि, अपने निधन से कुछ हफ्तों पहले उन्होंने माना था कि यह संक्रामक रोग देश में एक खतरा है।

ऐसा बताया गया कि मगुफुली का हृदय गति रुकने के कारण निधन हुआ लेकिन निर्वासित विपक्षी नेता टुंडु लिस्सू ने कहा कि राष्ट्रपति की मौत कोविड-19 के कारण हुई।

राष्ट्रपति के तौर पर अपने पहले जन संबोधन में हसन ने मगुफुली के लिए 21 दिनों की शोक की घोषणा की और 22 मार्च तथा 25 मार्च को सार्वजनिक अवकाश का एलान किया, जब दिवंगत राष्ट्रपति को सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा।

हसन ने कहा, ”मेरे लिए आपसे बात करना सही नहीं है क्योंकि मेरे दिल में दर्द है। आज मैंने उन सभी शपथ से अलग शपथ ली है, जो मैंने अपने करियर में ली। वे शपथ खुशी में ली गई थी।

आज मैंने शोकाकुल होकर देश के सर्वोच्च पद की शपथ ली है।” उन्होंने कहा, ”यह वक्त एक साथ खड़े और एक-दूसरे से जुड़ने का है।

यह वक्त अपने मतभेदों को खत्म करने, एक-दूसरे के प्रति प्यार दिखाने और विश्वास के साथ आगे बढ़ने का है। यह एक-दूसरे पर उंगली उठाने का समय नहीं है, बल्कि नया तंजानिया बनाने के लिए हाथ थामकर आगे बढ़ने का है।”

RELATED ARTICLES

ज़ाहिद कुरैशी अमेरिकी जज बनने वाले पहले मुस्लिम

अमेरिकी सीनेट (उच्च सदन) ने पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी नागरिक जाहिद कुरैशी के न्यूजर्सी में डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में नामांकन को मंजूरी दे दी है।...

आयशा सुल्ताना के खि’ला’फ देश’द्रो’ह का के’स लगा तो bjp नेताओ ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली. लक्षद्वीप में स्थानीय बीजेपी नेता ही फिल्म प्रोड्यूसर और एक्ट्रेस आयशा सुल्ताना (Aisha Sultana) के खि'ला'फ देश'द्रो'ह का माम'ला दर्ज किए जाने...

साकिब उल हसन ने गु’स्से में उखाड़ फेके तीनो स्टम्प

नई दिल्ली. बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब उल हसन अक्सर वि'वा'दों में घिरे रहे हैं. कभी देश के क्रिकेट बोर्ड से ट'क:रा'व को लेकर, तो...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

ज़ाहिद कुरैशी अमेरिकी जज बनने वाले पहले मुस्लिम

अमेरिकी सीनेट (उच्च सदन) ने पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी नागरिक जाहिद कुरैशी के न्यूजर्सी में डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में नामांकन को मंजूरी दे दी है।...

4 भारतीय खिलाड़ी जिन्होंने आज तक नहीं लगाया एल्को’हल को हाथ, न’शे से करते हैं तौबा

भारतीय टीम (Indian Team) के ऐसे कई क्रिकेटर हैं, जो स्मो किंग भी करते हैं और राब का सेवन भी करते हैं. हार्दिक पांड्या...

आयशा सुल्ताना के खि’ला’फ देश’द्रो’ह का के’स लगा तो bjp नेताओ ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली. लक्षद्वीप में स्थानीय बीजेपी नेता ही फिल्म प्रोड्यूसर और एक्ट्रेस आयशा सुल्ताना (Aisha Sultana) के खि'ला'फ देश'द्रो'ह का माम'ला दर्ज किए जाने...

साकिब उल हसन ने गु’स्से में उखाड़ फेके तीनो स्टम्प

नई दिल्ली. बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब उल हसन अक्सर वि'वा'दों में घिरे रहे हैं. कभी देश के क्रिकेट बोर्ड से ट'क:रा'व को लेकर, तो...

Recent Comments