Payal Rohtagi

मुस्लिम महिलाओं पर ट्वीट करने को लेकर पायल रोहतगी पर कोर्ट ने की बड़ी कार्यवाई, देखिए

India

जामिया मिल्लिया इसलामिया की छात्रा सफूरा जरगर के खि’लाफ आप’त्तिजनक ट्वीट करने के मामले में एक्ट्रेस पायल रोहतगी के खि’लाफ मुंबई की अंधेरी मेट्रोपोलिटन कोर्ट ने जांच का आदेश दिया है। अदालत ने CRPC की धारा-202 के तहत आदेश जारी कर कहा है कि पुलिस इस मामले में 30 अप्रैल तक रिपोर्ट जमा करे. जून 2020 में जामिया से एम. फिल कर चुकी सफूरा जरगर दिल्ली दंगों में कथित भूमिका के आ’रोप में जे’ल गई थी.

जेल में जाने के बाद हुई मेडिकल जांच में पता चला कि वह प्रे’ग्नेंट है. इसी को लेकर पायल ने उसके धर्म का हवाला देते हुए आप’त्तिजनक ट्वीट किया था। इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया में पायल की खूब आलोचना हुई थी। यही नहीं ट्विटर ने उनका अकाउंट भी सस्पेंड कर दिया था.

पायल के ट्वीट के खिलाफ मुंबई के एडवोकेट अली काशिफ खान देशमुख ने मुंबई की अंबोली पुलिस स्टेशन में कंप्लेंट दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस ने जब इस मामले का संज्ञान नहीं लिया था. जिसके बाद दिसंबर 2020 में उन्होंने अंधेरी कोर्ट में याचिका दायर कर इस मामले की जांच करवाने और एफआईआर दर्ज करने की मांग की थी. जाफर की याचिका में कहा गया था कि पायल के ट्वीट से समाज में घृ’णा फैलती है. उन्होंने आ’रोप लगाया था कि रोहतगी के ट्वीट्स मुस्लिम महिलाओं को अप’मानित करते हैं.

एक ध’र्म विशेष के खि’लाफ है यह ट्वीट
इस मामले की सुनवाई के दौरान मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट ने कहा कि अदालत ने पाया है कि पहली नजर में पायल रोहतगी के ट्वीट मुस्लिम महिलाओं और इस पूरे समुदाय का अप’मान करते हैं। हर शख्स को अपने धर्म के प्रति आस्था रखने का अधिकार है और किसी को भी यह हक नहीं है कि वह किसी दूसरे समुदाय के रीति-रिवाजों या नियमों का मजाक बनाए।

अदालत ने कहा कि रोहतगी के ट्वीट्स को लेकर तकनीकी जांच किए जाने की जरूरत है, जिससे अभि’युक्त के खि’लाफ कार्रवाई आगे बढ़ाई जा सके और इस तरह की जांच पुलिस के द्वारा ही की जा सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *