दूल्हा नाच गाने में रहा व्यस्त और उधर दुल्हन ने किसी और के साथ ले लिए सात फेरे

Entertainment

राजस्थान के चुरू (Churu) जिले में एक अजीब मामला सामने आया है जहां दूल्हे को अपनी बारात में दोस्तों के साथ हुड़दंग और नाच गाना करना कुछ ज़्यादा ही महंगा पड़ा गया. हुआ यूं की दूल्हा देर रात तक नाच गाना करता रहा और बारात को मंडप में पहुंचने में देर हो गई जिस कारण दुल्हन और उसके परिजन नाराज हो गए. इतना ही नहीं नाराज़ दुल्हन के पिता ने उसी मंडप में बेटी की शादी किसी अन्य लड़के से कर दुल्हन को विदा भी कर दी.

दूल्हा जब बारात के साथ मंडप में पहुंचा तो नजारा देख हैरान रह गया. फिर बारात को बेरंग बिना दुल्हन लिए ही लौटना पड़ा. दूल्हा अपने रिश्तेदार के साथ मामले की शिकायत करने थाने पहुंचा था. जिसके बाद पुलिस ने दोनों परिवारों को समझाकर मामला शांत करा दिया है. चूरू जिले के चेलाना बास में बारात लेकर आए एक दूल्हे को अपने दोस्तों के संग डीजे पर हुड़दंग मचाना महंगा पड़ गया. बारात में आए दूल्हे और उसके दोस्तों का हुड़दंग देखकर दुल्हन और उसके परिजन नाराज हो गए. गुस्से में आए दुल्हन और उसके परिजनों ने पूरी बारात को ही वापस लौटा दिया.

हुड़दंग से परेशान होकर दुल्हन के परिजन और गांव वालों ने उसकी शादी दूसरे युवक से कराकर विदाई कर दी. दूल्हे पक्ष ने अब पुलिस के पास पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई है. यह पूरा मामला चूरू जिले के राजगढ़ तहसील के चेलाना गांव का बताया जा रहा है. पुलिस के अनुसार 15 मई को हरियाणा के सिवानी वार्ड संख्या 10 निवासी अनिल पुत्र महावीर बारात लेकर राजगढ के चेलाना बास मंजू के साथ शादी कर लेने पहुंचा था.

 

बता दें कि बारात दुल्हन के घर पहुंचते ही करीब डेढ़ सौ से अधिक बराती गाजे बाजे और डीजे की धुन पर थिरकने लगे. जबकि करीब रात 9 बजे के करीब बारात दुल्हन के घर के लिए निकली थी, डीजे की धुन और शराब के नशे में शराबी ऐसे डूबे कि रात 2 बजे तक नाचते झूमते रहे. डीजे पर दूल्हे और उसके दोस्तों ने ऐसी हुड़दंग मचाई कि दुल्हन पक्ष के लोग की एक नहीं सुनी. ये सब देख दुल्हन पक्ष के लोग परेशान हो गए. रात को दो बजे तक जब बारात घर नहीं पहुंची और ना ही विवाह की रस्में हो पाईं तो इस बात से दुल्हन पक्ष के लोग नाराज हो गए.

दुल्हन पक्ष ने जब बारातियों को हुड़दंग बंद करने को कहा तो उन्होंने नाराज होकर झगड़ा करने लगे. वहीं फेरो के लिए जो मुहूर्त निकाला गया था वो एक बजकर 15 मिनट का था. जब दूल्हा बारात को लेकर बार बार कहने पर भी समय पर भी नहीं आया तो दुल्हन और उसके परिजनों ने शादी किसी अन्य लड़के से कराने का फैसला लिया. रात में उसी मंडप में दुल्हन के परिजनों ने दुल्हन की शादी अन्य लड़के से करने के साथ ही विदाई भी कर दी.

जब बाराती रात को दो बजे बारात लेकर दुल्हन के घर पहुंचे तो वहां के हालात देख उनके होश उड़ गए. मंडप में दूल्हा दूसरा ही दिखा और दुल्हन की शादी किसी और युवक से हो चुकी थी. जिसके बाद विदाई की तैयारी के लिए दुल्हन गाड़ी में बैठने जा रही थी और थोड़ी देर में उसे विदा भी कर दिया गया. इसके बाद दूल्हे को बारात समेत बेरंग लौटना पड़ा. इसके बाद दूसरे दिन दूल्हा सुनील और उसके रिश्तेदार राजगढ़ थाने पहुंचे. लड़की वालों का कहना है कि सात फेरों की रस्म में ही जब इतनी लापरवाही रही तो फिर आगे ये लोग क्या रिश्ता निभा पायेंगे. इस घटना के बाद पुलिस ने दोनो पक्षों को बैठाकर समझाया जिसके बाद मामला शांत हुआ.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *