मुस्लिम दोस्त के साथ बस में सफर कर रही थी लड़की, बजरंग दल वालों ने लड़के को चाकू मार दिया!

360°

एक हिंदू लड़की अपने मुस्लिम दोस्त के साथ बस में सफर कर रही थी. ये बात बजरंग दल के कुछ कार्यकर्ताओं को इतनी बुरी लगी कि उन्होंने दोनों को बस से उतार लिया. आरोप है कि बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने लड़के को बुरी तरह पीटा और उसे चाकू मार दिया. पुलिस ने इस मामले में अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया है. लड़के का इलाज स्थानीय अस्पताल में चल रहा है.

मामला कर्नाटक के मंगलौर शहर का है. पीड़ित अश्विनी एस. की ओर से FIR दर्ज कराई गई है. इस FIR में अश्विनी ने बताया है कि गुरुवार एक अप्रैल की रात करीब साढ़े नौ बजे वह अपने दोस्त अश्विद अनवर मोहम्मद के साथ जा रही थी. कनकनाड़ी थाने के अंतर्गत आने वाले पंपवैल इलाके में पांच से छह लोगों ने बस को रोक लिया. इन लोगों ने मेरे दोस्त पर हमला कर दिया.

FIR के मुताबिक इन लोगों ने अश्विनी और अनवर को बस से बाहर खींच लिया. पिटाई शुरु कर दी. दावा करने लगे कि दोनों के बीच अफेयर चल रहा है. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक अश्विनी ने कहा कि वे लोग पीटते वक्त बोल रहे थे कि अनवर को नहीं छोड़ेंगे. इसके बाद उन्होंने अनवर को डंडों से भी पीटा और चाकू मार दिया.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक एक पुलिस ऑफिसर ने कहा, – “दोनों पीड़ितों की उम्र 23 साल है. दोनों साथ में पढ़े हैं. एक आरोपी उन्हीं के इलाके का रहने वाले है और दोनों को जानता था. एक अप्रैल की रात उन्होंने इस जोड़े का पीछा किया और बस को रोक लिया. हम मामले की जांच कर रहे हैं. ये भी देखा जा रहा है कि आरोपियों को इन दोनों के बारे में और कहां से जानकारी मिली.”

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से दो लोगों का आपराधिक इतिहास भी है. उन्होंने बताया कि ये लोग बजरंग दल के साथ जुड़े हुए थे. जिन 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है उनके नाम बालचंद्र (28), धनुष भंडारी (27), जय प्रशांत (27) और अनिल कुमार (38) हैं.

पुलिस ने बताया कि धनुष भंडारी साल 2019 में कत्ल के एक केस में बरी किया गया था. हत्या के प्रयास के एक केस में मई 2020 में उसे जमानत मिली थी. इसके अलावा दो महीने पहले भी वो  मॉरल पुलिसिंग के मामले में शामिल था. धनुश के अलावा जय प्रशांत का भी आपराधिक इतिहास है और वो भी मॉरल पुलिसिंग के मामले में शामिल रहा है.

पुलिस ने बताया कि शुक्रवार 2 अप्रैल को आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था. पुलिस ने कहा कि इस केस में IPC 307 (हत्या के प्रयास) और 153A यानी समुदायों के बीच घृणा फैलाने की कोशिश का मामला दर्ज किया है.

वहीं इस पूरे मामले में मंगलौर बजरंग दल के सदस्य के आर सुनील ने कहा कि संगठन के लोगों ने इस जोड़े से सवाल जरूर किए थे, लेकिन किसी पर हमला नहीं किया गया. इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक पीड़ित लड़के का इलाज एक स्थानीय अस्पताल में चल रहा है जहां उसकी हालत स्थित बनी हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *