Home 360° अयोध्या मस्जिद से आई बड़ी खबर,2 महिलाओं ने जताया अपना हक,किसी को...

अयोध्या मस्जिद से आई बड़ी खबर,2 महिलाओं ने जताया अपना हक,किसी को नही थी उम्मीद

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने अयोध्या के धन्नीपुर गांव में मस्जिद के लिए जमीन आवंटित की। लेकिन अब इसी जमीन के आवंटन के विरुद्ध इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में एक याचिका दायर की गई है। याचिकाकर्ता ने मस्जिद के लिए आवंटित जमीन पर अपना हक जताया है।

अयोध्या के धन्नीपुर गांव में मस्जिद बनाने के लिए यूपी सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को आवंटित कुल 29 एकड़ जमीन में से पांच एकड़ को विवादित बताकर हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच में बुधवार को एक याचिका दाखिल की गई है। याचिका कोर्ट की रजिस्ट्री में दाखिल की गई है। इस पर 8 फरवरी को सुनवाई हो सकती है। दिल्ली निवासी दो महिलाओं ने आवंटित जमीन में से पांच एकड़ पर अपना दावा किया है।

दरअसल महिलाओं ने कहा है कि उक्त 5 एकड़ की जमीन के संबंध में बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी के समक्ष एक मुकदमा विचाराधीन है। यह याचिका रानी कपूर पंजाबी उर्फ रानी बलूजा और रमा रानी पंजाबी ने दाखिल की है। याचिका में कहा गया है कि बंटवारे के समय उनके माता-पिता पाकिस्तान के पंजाब से आए थे। वे फैजाबाद(अब अयोध्या) में ही बस गए। बाद में उन्हें नजूल विभाग में ऑक्शनिस्ट के पद पर नौकरी भी मिली।

उनके पिता ज्ञान चंद्र पंजाबी को 1,560 रुपये में 5 साल के लिए ग्राम धन्नीपुर, परगना मगलसी, तहसील सोहावल, जनपद फैजाबाद में लगभग 28 एकड़ जमीन का पट्टा दिया गया।पांच साल के बाद भी उक्त जमीन याचियों के परिवार के ही उपयोग में रही और याचियों के पिता का नाम आसामी के तौर पर उक्त जमीन से संबंधित राजस्व रिकॉर्ड में दर्ज हो गया। हालांकि वर्ष 1998 में सोहावल एसडीएम द्वारा उनके पिता का नाम उक्त जमीन से संबंधित रिकॉर्ड से हटा दिया गया। इसके खिलाफ याचियों की मां ने अपर आयुक्त के यहां कानूनी लड़ाई लड़ी और उनके पक्ष में फैसला हुआ।

याचियों का कहना है कि अपर आयुक्त के आदेश के बाद भी चकबंदी के दौरान पुनः उक्त जमीन के राजस्व रिकॉर्ड को लेकर विवाद उत्पन्न हुआ व चकबंदी अधिकारी के आदेश के विरुद्ध बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी के समक्ष मुकदमा दाखिल किया गया, जो अब तक विचाराधीन है। याचियों का कहना है कि उक्त जमीन के संबंध में केस विचाराधीन होने के बावजूद राज्य सरकार द्वारा इसी जमीन में से 5 एकड़ सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को आवंटित कर दिया गया है। याचियों ने आवंटन व उसके पूर्व की पूरी प्रक्रिया को चुनौती दी है।

RELATED ARTICLES

आयशा सुल्ताना के खि’ला’फ देश’द्रो’ह का के’स लगा तो bjp नेताओ ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली. लक्षद्वीप में स्थानीय बीजेपी नेता ही फिल्म प्रोड्यूसर और एक्ट्रेस आयशा सुल्ताना (Aisha Sultana) के खि'ला'फ देश'द्रो'ह का माम'ला दर्ज किए जाने...

साकिब उल हसन ने गु’स्से में उखाड़ फेके तीनो स्टम्प

नई दिल्ली. बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब उल हसन अक्सर वि'वा'दों में घिरे रहे हैं. कभी देश के क्रिकेट बोर्ड से ट'क:रा'व को लेकर, तो...

उत्तर प्रदेश महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी का बयान लड़कियां फ़ोन रखती है इस लिए भाग जाती है

उत्तर प्रदेश महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी का बयान काफी चर्चाओं में है. यूपी महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी ने अलीगढ़ में...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

आयशा सुल्ताना के खि’ला’फ देश’द्रो’ह का के’स लगा तो bjp नेताओ ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली. लक्षद्वीप में स्थानीय बीजेपी नेता ही फिल्म प्रोड्यूसर और एक्ट्रेस आयशा सुल्ताना (Aisha Sultana) के खि'ला'फ देश'द्रो'ह का माम'ला दर्ज किए जाने...

साकिब उल हसन ने गु’स्से में उखाड़ फेके तीनो स्टम्प

नई दिल्ली. बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब उल हसन अक्सर वि'वा'दों में घिरे रहे हैं. कभी देश के क्रिकेट बोर्ड से ट'क:रा'व को लेकर, तो...

महिला से पूछा गया सवाल वह कौन सा कार्य है जो सिर्फ रात में ही किया जाता है?

बचपन से ही हर किसी का सपना होता है की वह आईएएस बने लेकिन हर कोई इस सपने को पूरा नहीं कर पाता। कोई...

इंटरव्यू सवाल – शरीर का वो कौन सा अंग होता है जहाँ कभी पसीना नहीं आता ?

हमारे देश के अधिकतर नवजवान आईएएस अधिकारी बनने का सपना देखते है और आईएएस की परीक्षा हमारे देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से...

Recent Comments