भड़काऊ बयान देने पर आसिया अंद्राबी के खिलाफ़ अदालत ने आरोप तय किये!

India

जागरण डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, कश्मीरी अलगाववादी और दुख्तारन-ए-मिलत की संस्थापक आसिया अंद्राबी और उसके सहयोगियों के खिलाफ भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ने, देशद्रोह और देश में आतंकी साजिश रचने के आरोपों में पटियाला हाउस कोर्ट में आरोप तय किए हैं। आसिया अंद्राबी पर हर साल पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर श्रीनगर में पाकिस्तानी झंडा फहराने और लड़कियों को सुरक्षाबलों के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन के लिए भड़काने सहित कई मामले दर्ज हैं।

ऐसे ही एक बार 14 अगस्त को आसिया ने भड़काऊ बयान दिया था और कहा था कि उसके लिए लोग या तो मुसलमान हैं या फिर काफिर। 56 वर्षीय आसिया अंद्राबी को कश्मीर की पहली महिला अलगाववादी नेता माना जाता है।

आसिया महिला संगठन दुख्तरान-ए-मिल्लत की संस्थापक हैं। हालांकि भारत सरकार ने इस संगठन को प्रतिबंधित कर रखा है।

बता दें कि दिल्ली के तिहाड़ जेल में आसिया अंद्राबी बंद है। 2019 में NIA ने आसिया पर शिकंजा कसते हुए उसके मकान को जब्त कर लिया था।

इस मकान को आतंकवाद संबंधी निधि से खरीदा गया था। मकान को गैर कानूनी गतिविधि (निरोधक) कानून के तहत जब्त किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *