शाहनवाज़ हुसैन का बड़ा बयान आज के बाद अर्नब गोस्वामी को अगर किसी ने हाँथ लगाया तो-

360°

अंग्रेजी न्यूज चैनल टाइम्स नाऊ के एडिटर इन चीफ अरनब गोस्वामी ने लाइव शो के दौरान मु’स्लिम पत्रकार पर आतं’की संगठन इंडियन मुजा’हिद्दीन के लिए कवच का काम करने का आरोप लगा दिया। अरनब के बयान को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। मीडिया का एक वर्ग खुलकर अरनब के विरोध में आ गया है। इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी उनके खिलाफ कैंपेन चलाया जा रहा है।

यह पूरा विवाद सोमवार (23 मई) की रात को तब शुरू हुआ, जब चैनल पर आईएस’आईएस के उस वीडियो को लेकर बहस हो रही थी, जिसमें एक शख्स यह कहता दिख रहा है कि बाटला एनका’उंटर में वह भी मारा जाता है, लेकिन वह भागने में कामयाब रहा। अरनब के शो में तहलका मैगजीन के पत्रकार असद अशरफ

को भी बुलाया गया था। वह लाइव शो में बाटला एन’काउंटर पर राय रख रहे थे, जिस पर अर’नब ने असहमति जताई। इसके बाद उन्होंने कहा, ‘आप जैसे लोग आतं’की संगठन इंडियन मुजाहि’द्दीन के लिए कवच का काम करते हैं।’ इसके बाद यह खबर मीडिया में आ गई और देखते ही देखते सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हो गया।

दूसरी ओर तहलका सहित कई मीडिया संस्‍थान असद अशरफ के समर्थन में उतर आए हैं। तहलका मैगजीन ने अरनब के बयान की निंदा की है। तहलका की वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि तहलका असद अशरफ के साथ खड़ा है। रिपोर्ट में कहा गया, ‘अशरफ ने शो के दौरान बाटला एनका’उंटर की पुलिस जांच की

कमियों की ओर ध्यान दिलाया था। उन्होंने एनकाउंटर में मारे गए किसी भी कथित आतंकी को क्लीन चिट नहीं दी थी। पत्रकार होने के नाते असद को पूरा हक है कि वह मामले की जांच कर सकते हैं और सवाल उठा सकते हैं। तहलका का स्टाफ असद के समर्थन में खड़ा है।’

अंग्रेजी वेबसाइट thecitizen पर अशरफ ने लिखा, ‘टाइम्स नाऊ में मैं पत्रकार के तौर पर गया था, लेकिन जब वापस आया तो मुझ पर कट्ट’रपंथी का तमगा लगा था। मुझे पता था कि बोलने का मौका नहीं मिलेगा। जब मेरे पास शो के लिए बुलावा

आया तो मैंने मना कर दिया था, लेकिन चैनल ने वादा किया कि आपको बोलने का पूरा मौका दिया जाएगा। शो में वही हुआ- मुझे बोलने का मौका नहीं दिया गया। लेकिन मुझे यह नहीं पता था कि मैं लौटूंगा तो कट्टर’पंथी का तमगा लेकर आऊंगा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *