राम मंदिर दान पर अनीस अहमद ने दिया बड़ा बयान”RSS का मंदिर है एक भी रुपया

360°

केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन ने शुक्रवार को पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और उसके नेता अनीस अहमद को राम मंदिर दान अभियान पर भड़का,ऊ टिप्पणी करने के लिए जमकर फटकार लगाई है। बता दें कि PFI के महासचिव अहमद ने गुरुवार को कर्नाटक में पॉपुलर फ्रंट डे 2021 पर एक सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि मुसलमानों को राम मंदिर के निर्माण के लिए दान नहीं करना चाहिए क्योंकि यह RSS का मंदिर है।

विदेश राज्य मंत्री मुरलीधरन ने रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क से बात करते हुए कहा कि इसी तरह PFI ने निर्दोष मुस्लिम युवाओं को अपने पाले में किया है। बीजेपी नेता ने कहा-इसी तरह PFI निर्दोष मुस्लिम युवाओं को बहका कर अपने पाले में कर रही है और उन्हें शहीद बना रही है। उन्हें अपने देश के खिलाफ लड़ने के लिए प्रेरित कर रही है और जब वे लोग कानून की गिरफ्त में आ जाते हैं तो उन्हें शही,द की तरह दिखाने लग जाती है।


हालांकि, आखिरकार वह हैं तो सभी भारतीय नागरिक और उन्हें कानून का पालन करने वाला नागरिक होना चाहिए। उन्होंने आगे कहा-उन्हें संविधान और कानून की भूमि का सम्मान करना चाहिए। इन मुस्लिम युवाओं को PFI के नेताओं पर भरोसा है लेकिन उन्हें समझना चाहिए कि भारत सबसे लोकतांत्रिक देश है जहां हर अल्पसंख्यक को जीने का अधिकार है और उसके पास समान अवसर हैं।”

अनीस अहमद ने उल्लाल में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा-मैं इस मंच से आप सब को बता रहा हूं, ये जो लोग आपके घर राम मंदिर के लिए चंदा इकट्ठा करने के लिए आ रहे हैं, इन्हें एक पैसा भी ना दें। बस इनका बहिष्कार कीजिए जैसे आप लोगों ने एनआरसी का बहिष्कार किया था।अहमद ने आगे कहा- मैं सभी मुस्लिम व्यवसायियों और दुकान के मालिकों से यह कहना चाहता हूं कि यदि आपके पास थोड़ी सी भी हिम्मत है, तो इन सभी RSS के लोगों को एक भी रुपया न दें जो दान के लिए पूछ रहे हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि यह राम के लिए मंदिर नहीं है,यह RSS का मंदिर है और उसके लिए मुसलमानों के पैसे से एक भी ईंट नहीं लगनी चाहिए।”यहां तक कि उत्तर प्रदेश सरकार भी PFI पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर रही है और आरोप लगा रही है कि उसने नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरोध में राज्य में दं,गे भड़काने का काम किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *