अली अब्बास जफर की माफी पर कंगना रनौत का गलत बयान-हिम्मत है अल्लाह का मजाक उड़ाने की

Entertainment

बॉलीवुड अभिनेत्री का नाम भी अब उन लोगों में शुमार हो गया है जो अली अब्बास जफर और सैफ अली खान की वेब सीरीज तांडव का विरोध कर रहे हैं. तमाम विरोधो के बीच जहां अली अब्बास जफर ने माफी मांगी तो वहीं कंगना ने उनरी माफी पर भी ऐसा ट्वीट जो कि सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. अपने इस ट्वीट में कंगना ने अली से सवाल किया है कि क्या वो अपनी फिल्मों में इस तरह से अल्लाह का भी मजाक बना सकते हैं.

कपिल मिश्रा के ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए कंगना ने लिखा, “माफ़ी माँगने केलिये बचेगा कहां? ये तो सीधा गला काट देते हैं, जिहादी देश फ़तवा निकाल देते हैं लिब्रु मीडिया वर्चुअल लिंचिंग कर देती है, तुम्हें ना सिर्फ़ जान से मार दिया जाएगा बल्कि उस मौत को भी जस्टिफ़ाई किया जाएगा, बोलो अली अब्बास जफर है हिम्मत अल्लाह का मज़ाक़ उड़ाने की ?”

कंगना का ये ट्वीट अब सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. सीरीज का विरोध कर रहे लोगों का कंगना ये बेबाक अंदाज काफई पसंद आ रहा है और वो इस ट्वीट को खूब रीट्वीट कर रहे हैं.
इसके साथ ही आपको बता दें कि इससे पहले भी कंगना तांडव विवाद पर ट्वीट कर चुकी हैं. कंगना ने सिरीज को ‘हिंदू फोबिक, एट्रोसियस और ऑब्जेक्शनेबल करार दिया.

कंगना रनौत ने एक ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा, “समस्या सिर्फ हिंदू फोबिक कॉन्टेंट की नहीं है, बल्कि यह रचनात्मक रूप से खराब है. हर लेवल पर आपत्तिजनक है, इसलिए जानबूझकर विवादस्पद सीन रखे गए हैं. उन्हें न सिर्फ आपराधिक इरादों के लिए बल्कि दर्शकों को टॉर्चर करने के लिए जेल में डाल देना चाहिए.”निर्माता अब्बास जफर ने अपनी हालिया वेब सीरीज तांडव के विवादों में घिर जाने के बाद अपने पूरी कास्ट और क्रू की ओर से माफी मांगते हुए कहा है कि उनका इरादा किसी को भी अपमानित करने या किसी भी धर्म और राजनीतिक पार्टी का अपमान करने का नहीं है.

वेब सीरीज पर विवाद पहले एपिसोड के ही एक सीन पर है. इसमें अभिनेता मोहम्मद जीशान अयूब भगवान शिव बने नजर आ रहे हैं और यूनिवर्सिटी के छात्रों को संबोधित करते हुए कहते हैं, “आखिर आपको किससे आजादी चाहिए.” उनके मंच पर आते ही एक मंच संचालक कहता है, “नारायण-नारायण. प्रभु कुछ कीजिए. रामजी के फॉलोअर्स लगातार सोशल मीडिया पर बढ़ते ही जा रहे हैं.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *