2 तारीख को सभी मस्जिदे खुलना चाहिए > नहीं तो हम रोड पर नमाज पढ़ेंगे AIMIM सांसद Imtiaz Jaleel

हम आखिर कब तक इंतजार करेंगे यह लोग सही है आपकी हुक्मशाही और बेतुके निर्णय को अब जनता भी कब तक बर्दाश्त करेगी तो हमने यह फैसला किया कि 1 तारीख के दिन जब यहां महाराष्ट्र के अंदर गणेश विसर्जन किया जाता है बड़ा दिन होता है हमारे हिंदू भाइयों के लिए मैं तमाम हिंदू भाइयों से अनुरोध करूंगा कि 1 तारीख के दिन तमाम मंदिरें खुलवाने लग जाएगा 2 तारीख के दिन हम तमाम मस्जिदों को खोलने का आह्वान करेंगे सरकार अगर इजाजत दे तो ठीक नहीं तो हम रोड पर नमाज पढ़ेंगे


ऑल इंडिया मजलिस एतिहाद उल मुस्लिमीन यानी एम आई एम से औरंगाबाद से सांसद Imtiaz Jaleel ने न्यूज़ चैनल एबीपी से बातचीत में यह बातें कहीं उन्होंने धार्मिक स्थल खोलने को लेकर 26 अगस्त को ट्वीट किए थे सरकार से पूछा था कि सिर्फ धार्मिक स्थलों को ही बंद क्यों रखा गया है

जब बिजनेस फैक्ट्रियां बाजार हाईवे खोल दिए गए हैं जहां तक की बसें रेलगाड़ियां और फ्लाइट्स संचालित हो रही है तो ऐसे में सरकार को किसने बताया कि कोरोना सिर्फ धार्मिक स्थलों से फैले का सरकार की राजस्व कमाई वाली शराब की दुकानें भी खोल दी गई है सिविल लोग शादी विवाह के लिए इकट्ठा हो सकते हैं ऐसे में केवल धार्मिक स्थल बंद क्यों है

हम सभी ने मेडिकल के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए 6 महीने तक सरकार के साथ सहयोग किया और इंतजार किया अब जब सब कुछ खुल रहा है तो केवल धार्मिक स्थल क्यों बंद रखे गए यह लॉजिकल नहीं है मैं महाराष्ट्र सरकार को अल्टीमेटम देता हूं कि 1 दिसंबर से सभी मंदिरों को खोल दें और हम 2 दिसंबर से सभी मस्जिद खोल देंगे

एम आई एम सांसद के इस बयान का विरोध शुरू हो गया है पूर्व प्रधानमंत्री टीवी नरसिम्हा राव के बेटे और बीजेपी नेता एनबी सुभाष ने कहा कि सरकार को अल्टीमेटम देना हा,स्यास्पद है इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक एनवी सुभाष ने कहा

एक सांसद होने के नाते एम आई एम के नेता को धार्मिक तौर पर मुसलमानों को उकसाना नहीं चाहिए ऐसे समय में जब देश कोरोना संक्रमित जूझ रहा है और राज्य सरकार को वा,र्निंग कैसे दे सकते हैं वह सड़कों पर नमाज के लिए मुस्लिमों से भर देंगे

एन बी सुभाष ने महामारी के दौरान धार्मिक मामलों पर लोगों को उठाने के लिए सांसद के खिलाफ मामला दर्ज करने की भी मांग की उन्होंने गणेश विसर्जन के साथ मस्जिदों के खोलने की तुलना को खारिज करते हुए कहा कि यह उचित नहीं है क्योंकि गणेश की मूर्तियों का विसर्जन एक ऐसा कार्यक्रम है जो 1 या 2 दिनों में पूरा हो जाएगा लोक डाउन के सावधानियों के साथ इसे किया जाएगा

तो दोस्तों हिमानी में सांसद के इस बयान से क्या आप सहमत है आप अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर दें और इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *