अब पुलिस ने खुद बताया है कि वो बंदूक की नोक पर गाड़ियों की चेकिंग क्यों कर रही थी?

यूपी के बदायूं में पुलिस ने गनप्वाइंट पर लोगों की तलाशी ली. (वीडियो ग्रैब)सोचिए आप किसी हाईवे पर जा रहे हों. कानों में ईयरफोन लगा हो. मस्त दिलजीत दोसांज के गाने चल रहे हों और एकदम से पुलिस आपके सामने आए और आपको रोक के बोले ‘हैंड्स-अप’. ऐसे केस में तो आप पहले कुछ सेकेंड के लिए घबराएंगे,

फिर पास्ट के किए सारे ‘क्राइम’ को एक सेकेंड में याद करेंगे, फिर भगवान-भगवान जपने लग जाएंगे. फिर सारी बातें इमैजिनेश करने के बाद आप कहेंगे कि भगवान ना करे कि ऐसा किसी के साथ हो. कोई हार्ट का मरीज़ हो तो डर के मारे हार्ट ही फेल हो जाए बेचारे का.उस ड्राइवर कादिमाग काम करना बंद कर देगा

लेकिन अगर हम कहें कि ऐसा सच में हुआ है तो क्या आप यकीन करेंगे? अगर यकीन करने में थोड़ी दिक्कत हो रही है तो पहले वीडियो देख ही लीजिए. उसके बाद पूरी कहानी समझाते हैं.चल रहा है?अब पुलिस ने खुद बताया है कि वो बंदूक की नोक पर गाड़ियों की चेकिंग क्यों कर रही थी
यूपी के बदायूं में पुलिस ने गनप्वाइंट पर लोगों की तलाशी ली. (वीडियो ग्रैब)सोचिए आप किसी हाईवे पर जा रहे हों.

कानों में ईयरफोन लगा हो. मस्त दिलजीत दोसांज के गाने चल रहे हों और एकदम से पुलिस आपके सामने आए और आपको रोक के बोले ‘हैंड्स-अप’. ऐसे केस में तो आप पहले कुछ सेकेंड के लिए घबराएंगे, फिर पास्ट के किए सारे ‘क्राइम’ को एक सेकेंड में याद करेंगे, फिर भगवान-भगवान जपने लग जाएंगे. फिर सारी बातें इमैजिनेश करने के बाद आप कहेंगे कि भगवान ना करे कि ऐसा किसी के साथ हो.

कोई हार्ट का मरीज़ हो तो डर के मारे हार्ट ही फेल हो जाए बेचारे का.लेकिन अगर हम कहें कि ऐसा सच में हुआ है तो क्या आप यकीन करेंगे? अगर यकीन करने में थोड़ी दिक्कत हो रही है तो पहले वीडियो देख ही लीजिए. उसके बाद पूरी कहानी समझाते हैं.इस वीडियो में पुलिस वाले ये कहते हुए सुनाई पड़ गए होंगे कि ‘ऐ हाथ ऊपर करो’-‘हाथ ऊपर करो’, ‘हाथ नीचे नहीं करना’. ऐसा ट्रीटमेंट कि मानो सामनेवाला कोई क्रिमिनल हो.

जबकि आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सामने वाला आपके और हमारे जैसा ही आम आदमी है, बोले तो ‘मैंगो पीपल’. इस वीडियो में बिल्कुल वैसा ही सीन हुआ है जैसा कि हमने आपको इमैजिन करने के लिए कहा था.दरअसल, ये वीडियो यूपी के बदायूं ज़िले का है. यहां पुलिस ने गन प्वाइंट पर बाइक सवार लोगों की तलाशी ली है. और मज़े की बात तो ये है कि तलाशी का ये वीडियो खुद पुलिस ने ही बनाया है.

अब ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है और लोग यूपी पुलिस के मज़े ले रहे हैं.लेकिन यूपी पुलिस का कहना है कि ऐसा करके उन्होंने कुछ गलत नहीं किया. क्योंकि इसके पीछे एक बड़ी वजह थी. इस मामले में बदायूं के एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी ने कहा-ऐसा पुलिस ने सेल्फ डिफेंस के लिए किया है. कई बार वाहन चेकिंग के दौरान आपराधिक प्रवृत्ति के लोग पुलिस पर हमला कर देते हैं.

इससे बचने के लिए पुलिस को हिदायत दी गई थी कि वो इस तरह से गन प्वाइंट पर चेकिंग करें.खुद यूपी पुलिस ने भी एक वीडियो ट्वीट किया है, जिसमें एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी ये कहते हुए दिख रहे हैं कि पुलिस का हथियार लेकर चेकिंग करना सिर्फ आत्मरक्षा के लिए था. हालांकि यूपी पुलिस ने @UPpolice ट्विटर हैंडल से ट्वीट करने के दौरान लिखा है कि ये चेकिंग सिर्फ दिखाने के लिए की गई थी, इसका मकसद लोगों को डराना नहीं था.

लेकिन वीडियो में एसएसपी साफ कहते दिखते हैं कि अपराधी प्रवृत्ति के लोगों से बचने के लिए पुलिस ने ऐसा किया था. एसएसपी की बात भी सुन लीजिए.कुल मिलाकर एसएसपी ने इस मामले को डिफेंड किया है. उनके मुताबिक पुलिस ने कुछ गलत नहीं किया, बल्कि आत्मरक्षा में ऐसा किया गया है. हालांकि वीडियो देखकर ऐसा लगता है कि पुलिस लोगों से कुछ ज्यादा ही सख्ती से पेश आ रही थी.

Comments